चित्तौड़गढ़ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो उदयपुर की टीम ने आज चित्तौड़गढ़ जिले की बड़ी सादड़ी नगर पालिका की चेयरमैन के कहने पर उसके साले को ठेकेदार से ₹200000 की रिश्वत राशि बिल पास करने के एवज में लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया जबकि पालिका चेयरमैन फरार हो गया जिस किसी भी तलाश कर रही है । भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के सूत्रों के अनुसार ब्यूरो को विष्णु दत्त शर्मा पुत्र लाल चंद शर्मा संगरिया बड़ीसादड़ी ने ब्यूरो में शिकायत की थी उसके पुत्र की फर्म हितेश व्यास द्वारा वर्ष 2020 21 में नगर पालिका द्वारा यह के टेंडर के तहत निर्माण कार्य कराए गए थे जिसकी बकाया राशि 3 लाख 92692 रूपये का बिल पास करने के बाद में नगर पालिका के चेयरमैन निर्मल पितलिया में उक्त बकाया राशि का 50% वह तो रिश्वत मांगी है और इस बेटे उसके बेटे की फर्म का साइंस का खाली एक भी लिया।इस शिकायत का सत्यापन कराए जाने पर शिकायत सही पाई गई इस पर आज ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उमेश ओझा के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया और योजनानुसा बिल पारित किया जो ट्रेजरी से 24 मई को पारित हो गया उसके बाद चेयरमैन निर्मल पितलिया ने हस्ताक्षर शुदा चेक बैंक में लगाया और 200000 राशि लेने के लिए अपने साले कुश पिता सुरेश शर्मा को बैंक भेजा जहां ब्यूरो की टीम ने योजना अनुसार चेयरमैन निर्मल जीत लिया के साले खुशी शर्मा को ₹200000 की राशि सहित रंगे हाथों पकड़ लिया।इस घटना की खबर लगते ही चेयरमैन पितलिया नदारद हो गए जिन की खबर लिखे जाने तक ब्यूरो तलाश कर रही थी । सूत्रों के अनुसार ब्यूरो की टीम द्वारा चेयरमैन के घर पर भी सर्च की कार्रवाई की जा रही है ।