भारत के इस पूर्व बल्लेबाज ने दिया बयान, कहा मुझे भी इंग्लैंड में होना पड़ा नस्लवाद का शिकार!

0
74
cricket

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डैरेन सैमी के बाद अब भारत के पूर्व ओपनर बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने भी बयान दिया है कि उन्हें भी अपने करियर में नस्लवाद का शिकार होना पड़ा है।

प्रदेश में राज्यसभा चुनाव से पहले सियासी हलचल तेज, कांग्रेस ने डर के कारण उठाया ये कदम

टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने बताया कि इंग्लैंड के लीग क्रिकेट के दौरान उन्हें नस्लवादी टिप्पणियों का सामना करना पड़ा था। जब 2007 में मेरिलबोन क्रिकेट क्लब के लिए खेले थे, उन्होंने कहा इस दौरान उन्हें वहां पर ‘पाकी’ बुलाया जाता था। जो एक नस्लवादी शब्द हैं जिसे अंग्रेजी बोलने वाले देश दक्षिण एशियाई मूल के लोगों के लिए इस्तेमाल करते हैं।

गौरतलब है कि हाल ही में वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डैरेन सैमी ने आईपीएल में नस्लभेद टिप्पणी का शिकार होने का आरोप लगाए हैं। सैमी के मुताबिक वर्ष 2013 में हैदराबाद की ओर से खेले गए आईपीएल उन्हें ‘कालू’ नाम से बुलाया जाता था। इसी के साथ अब डैरेन सैमी ने कहा है कि मुझे इस शब्द पर कुछ लोगों के जवाब का इंतजार है। बहरहाल बता दें कि टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने भारत के लिए 10 टेस्ट मैच खेले है। आकाश चोपड़ा ने इस दौरान कई शानदार पारियां खेल टीम को विजयी बनाने में अहम भूमिका निभाई है।