Isfurti Singh – सेवानिवृत्ति के एक साल बाद भी पीएफ का फंड नहीं मिलने से बड़ौदा राजस्थान क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक एवं राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक के सैकड़ों कर्मचारियों काे परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके मद्देनजर नाराज बैंककर्मियों ने केंद्रीय कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी है। उधर, भविष्य निधि आयुक्त (केंद्रीय) संजय मिश्र का कहना है कि भुगतान के संबंध में स्पष्ट निर्देश नहीं हाेने से पीएफ राशि नहीं लौटाई गई।

मुख्यालय काे पत्र लिखकर एक समिति भी गठित की है। राजस्थान प्रदेश ग्रामीण बैंक पेंशनर्स संघ के कार्यकारी अध्यक्ष राधा किशन चोबदार ने बताया कि ग्रामीण बैंकों में पेंशन ट्रस्ट बनने और भविष्य निधि संगठन की सदस्यता से बाहर होने के बाद केंद्रीय भविष्य निधि संगठन के जयपुर और जोधपुर कार्यालय ने दाेनाें ग्रामीण बैंकों के लगभग 225 सेवानिवृत्त कर्मचारियों के भविष्य निधि के लगभग 45 लाख रुपए के दावों काे खारिज कर दिया।

सेवारत 6,400 कर्मचारियों की संचित जमा राशि भी बैंक काे नहीं दी जा रही है, जबकि उदयपुर और कोटा कार्यालय ने 1,136 कर्मचारियों की पीएफ राशि बैंक को लौटा दी है, वहीं भविष्य निधि संगठन का कहना है कि अब बैंक भविष्य निधि की सदस्यता से बाहर हो गए हैं। इसलिए भुगतान बैंक को ही किया जाएगा।