Marudhar Desk: नए साल में प्रवेश से पहले सभी ईश्वर से खुशियों और समृद्धि की कामना कर रहे है। श्रद्धालु मंदिरों व अन्य धार्मिक स्थलों पर जाकर खुशहाली की कामना कर रहे है। इसी कड़ी में आज 30 दिसंबर को सफला एकादशी के मौके पर पर आसलपुर जोबनेर निवासी 5 वर्षीय निशिता कुमावत ने रींगस से खाटूधाम पैदल निशान चढ़ाया। खाटूश्याम में श्रद्धालुओं की आस्था ही कुछ ऐसी है कि 5 साल की बच्ची भी श्याम बाबा के दर्शन करने और अपनी कामनाओं की इच्छापूर्ति के लिए पैदल चलकर गई। खाटूश्याम बाबा के दर्शन के लिए सफला एकादशी पर 5 साल की निशिता अपने पिता सुमित कुमावत, मां निधि कुमावत, मामा कृष्ण कुमार प्रजापत व कई मित्र गण यात्रा में शामिल हुई और बाबा से नये साल में खुशहाली की कामना की। बता दें कि खाटूश्याम बाबा में श्रद्धालुओं की खूब आस्था है। श्र्द्धालुओं का मानना है कि बाबा के दर्शन कर जो भी कामना करें वो पूरी होती है। वहीं, सफला एकादशी का भी अपना ही महत्व है। पौष माह के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को सफला एकादशी के नाम से जाना जाता है। एकादशी तिथि भगवान विष्णु को समर्पित होती है। इस दिन विधि- विधान से भगवान विष्णु की पूजा- अर्चना की जाती है। कहा जाता है कि सफला एकादशी पर विधि-विधान से की गई पूजा से सभी कामनाएं पूरी होती है।

khatu