धरती पर भगवान का अवतार…स्वास्थ्य कर्मियों के रूप में

0
152
medical workers

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी बन चुका है। दुनिया के सभी देश इसकी चपेट में आ चुके हैं। जहां एक तरफ लोग कोरोना की चपेट में आने से बचने के लिए घरों में कैद हो गए हैं। वही दुनिया भर के डॉक्टर नर्सेज और मेडिकल स्टाफ अपनी जान की परवाह किए बगैर कोरोना पीड़ितों की देखभाल करने में जुटा हुआ है। डॉक्टरों को भगवान का दूसरा रूप कहते हैं या यूं कहें आजकल भगवान धरती पर डॉक्टर और नर्सेज के रूप में उतर आया है। यह लोग अपने परिवारों से दूर 24 घंटे कोरोना पीड़ितों की सेवा करने में लगे हुए हैं इन्हें ना खाने-पीने की सुध है ना अपनी जान की परवाह। यह बिना किसी लालच के अपना कर्तव्य पूरा करने में जी जान लगाकर जुटे हुए हैं।

Created by: narendar singh dhillan

इतना ही नहीं प्रदेश की नर्सेज ने आगे आकर मुख्यमंत्री द्वारा बनाए गए फंड में अपना योगदान दिया है। नर्सेज ने राजस्थान नर्सेज एसोसिएशन के बैनर तले मुख्यमंत्री द्वारा बनाए गए फंड में एक दिन का अपना वेतन दान दिया है।

एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष प्यारे लाल चौधरी व प्रदेश संयोजक शशिकांत शर्मा ने बताया कि नर्सेज पीड़ित मानव की सेवा में हमेशा तत्पर रहती हैं, इस समय भी राज्य भर के नर्सिंग कर्मी कॉरोना को हराने में कोई कसर नहीं छोड़े रहे है। कोरोना वायरस के कहर को खत्म करने के लिए सेवा के साथ साथ नर्सिंग कर्मियों ने सीएम फंड में अपना एक दिन का वेतन देने का निर्णय किया है।

दूसरी तरफ राजस्थान नर्सेज एसोसिएशन के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र सिंह शेखावत,बलराम चतुर्वेदी व रमेश सैनी ने मुख्यमंत्री द्वारा कोरोना पीड़ितो की सेवा के लिए कार्यरत चिकत्सा कर्मियों के लिए पच्चीस करोड़ रुपयों की प्रोत्साहन राशि के प्रावधान की घोषणा का स्वागत किया है।