कोरोना संकट ने उजाड़ दी फूल विक्रेताओं की बगिया

0
32
jaipur flower merchant

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। चीन की वुहान सिटी से निकल कर आज पूरी दुनिया की अ​र्थव्यवस्था खराब कर देने वाला कोरोना वायरस का कहर अभी भी रूकने का नाम ही नहीं ले रहा है और देश में इससे संक्रमित मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

कोरोना वायरस ने पूरे देश की अर्थव्यवस्था को बिगाड़ कर रख दिया है। आज हर दुकानकार इसकी मार झेलता हुआ नजर आ रहा है। ऐसे में प्रदेश के फूल कारोबारियों की बगिया भी उजड़ती हुई नजर आ रही है। पिछले तीन महीने से शहर में फूल का व्यापार पूरी तरह बंद है। जहां पहले गुलाब, चमेली, जाफरानी आदि की खुशबु से बाजार महकता हुआ नजर आता था, आज वो बाजार बिल्कुल बेजार सा हो गया है। बता दें कि कोरोना संकट के कारण आज धार्मिक स्थल, शादी समारोह व अन्य आयोजन बंद होने के कारण फूल विक्रताओं के चेहरों पर मायूसी है।

हाल ही में राजधानी जयपुर के झोटवाड़ा क्षेत्र के फुल व्यापारी से व्यापार को लेकर बातचीत की और उन्होंने अपनी स्थिति साझा करते हुए कहा कि इस समय बच्चों का पेट पालना भी बड़ा मुश्किल हो रहा है। मंडी से महंगा सामान लेकर आते है, लेकिन इस समय मुनाफा छोड़ सामना का मूल्य भी नहीं निकल पा रहा है। इसके अलावा दुकाना का किराया सहित लाईट आदि के खर्च अलग से है। ऐसे में कोरोना वायरस संक्रमण से उपजे संकट ने फूल विक्रेताओं के साथ साथ फुलों की खेती करने वाले प्रदेश के हजारों किसानों, मालियों व फूल वालों की जिंदगी से मानों खुशबू ही छीन ली है।