चंबल नदी मे पानी की आवक बढ़ने के कारण आमजन की सुरक्षा हेतु एडवाईजरी जारी

0
167

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। अतिरिक्त जिला कलेक्टर सुदर्शन सिंह तोमर ने बताया कि कोटा बैराज से गेट खोलकर पानी छोड़ जाने पर चम्बल नदी में पानी की आवक बढ़ने से चम्बल नदी के किनारे बसे गांव, ढाणी आदि को खतरे की संभावना है। इस संबंध में उन्होने आमजन से अपील की है कि चंबल नदी किनारे या संबंधित जल भराव क्षेत्र में बसे गांव, बस्ती के सभी मछुआरे सहित अन्य लोग अपने पशुओं सहित अन्य सुरक्षित उंचे स्थानों पर शिफ्ट हो जाये। जिससे किसी भी प्रकार की कोई हानि नही हो। उन्होंने बताया कि वर्तमान में चंबल नदी का जल स्तर 150.240 है और वार्निंग लेवल 167 है।

कोटा बैराज के गेट खोलने के कारण सांय 5 बजे तक चंबल में पानी की आवक बढना प्रारंभ हो जायेगा। इसलिए चंबल नदी के आस पास बसे सभी लोग अपने बच्चों या किसी अन्य परिजन को चंबल नदी के निकट या भराव वाले क्षेत्र में नही जाने दे। उन्होंने उपखंड क्षेत्र मंडरायल सहित अन्य चंबल नदी संबंधित उपखंडों के अधिकारियो को अपने अपने क्षेत्र में विशेष निगरानी व सतर्कता बनाये रखने, मुख्यालय पर रहकर समूचित व्यवस्था करने, चंबल किनारे बसे गांव व ढाणियों के लोगों एवं पशुओं को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने के लिये आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर शीघ्र तैयारियां करने के निर्देश दिये है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि आवश्यक तैयारियों के संबंध में किसी भी प्रकार की कोई लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेगी, यह सुनिश्चित करे लें।उन्होंने समस्त अधिकारियों को बिना अनुमति के मुख्यालय नही छोडने के निर्देश भी दिये है।