आयकर के छापों में 70 करोड़ की अघोषित आय, 2.25 करोड़ नकद, 70 लाख की ज्वैलरी मिली

0
1017

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क | सियासी संग्राम के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व उनके बेटे वैभव गहलोत के करीबियों समेत छह लोगों के 50 ठिकानों पर हुई आयकर की छापेमारी में अब तक 70 करोड़ रु. की अघाेषित आय का पता चला है। बुधवार देर रात तक छापेमारी जारी थी।

हालांकि, विभाग की ओर से इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है कि अभी तक किसके ठिकाने से कितनी संपत्ति या दस्तावेज बरामद हुए हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ओम मेटल ग्रुप  के ठिकानों से सवा करोड़ रु. नकद और 70 लाख रु. की ज्वैलरी जब्त की गई है।

छापेमारी करने वाली कुछ टीमें दिल्ली रवाना हो गई हैं। ये टीमें अपने साथ कितनी नकदी या संपत्ति से संबंधित दस्तावेज ले गई हैं, उसका भी अभी खुलासा नहीं किया गया है। बता दें कि सोमवार को आयकर विभाग की टीमों ने गहलोत के करीबी कांग्रेस नेता राजीव अरोड़ा, धर्मेंद्र राठौड़ और चार कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी शुरू की थी। बता दें कि राजीव अरोड़ा और धर्मेंद्र राठौड़ कांग्रेस की बाड़ेबंदी का प्रबंधन करते हैं। 

हालांकि, आयकर विभाग का कहना है कि उनकी कार्रवाई का सियासी संकट से कोई ताल्लुक नहीं है। वहीं, कांग्रेस ने इस कार्रवाई को लेकर सीधे तौर पर केंद्र सरकार एवं भाजपा को जिम्मेदार ठहराया था। इस पूरी कार्रवाई का ब्योरा आना अभी बाकी है। दिल्ली, मुंबई और कोटा में भी कई ठिकानों पर छापे मारे गए थे। विभाग ने देशभर में कुल 50 ठिकानों पर कार्रवाई की है। प्रदेश में 80 से ज्यादा अधिकारी और कर्मचारी कार्रवाई में शामिल रहे।