डेस्क न्यूज़: 100 करोड़ की वसूली के मामले में आरोपी घोषित हुए महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को कल रात 1 बजे गिरफ्तार कर लिया गया। अनिल देशमुख के कई दिनों तक लापता रहने के बाद सोमवार सुबह 11:55 बजे अचानक प्रवर्तन निदेशालय (ED) कार्यालय पहुंचे। देशमुख को ED ने 5 बार पूछताछ के लिए तलब किया था, लेकिन हर बार उनके वकील इंद्रपाल सिंह ED कार्यालय पहुंचे। उनका तर्क था कि देशमुख 75 साल के हैं और महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते वह पेश नहीं हो सकते हैं।

अनिल देशमुख ने किसी भी सवाल का संतोषजनक जवाब नहीं दिया

13 घंटे की पूछताछ के बाद, ईडी ने पाया कि अनिल देशमुख ने किसी भी सवाल का संतोषजनक जवाब नहीं दिया। ऐसे में उसे गिरफ्तार कर लिया गया और अब उसे कस्टडी के लिए कोर्ट में पेश करने की तैयारी है. ईडी के सहायक निदेशक तसीन सुल्तान और उनकी टीम ने देशमुख से लगातार पूछताछ की. अब इस मामले में कुछ और लोगों की गिरफ्तारी संभव है। पिछले हफ्ते बंबई उच्च न्यायालय ने देशमुख की याचिका खारिज कर दी थी, जिसमें ईडी के समन को रद्द करने की मांग की गई थी।

पिछले हफ्ते बॉम्बे उच्च न्यायालय ने अनिल देशमुख की याचिका खारिज की थी

13 घंटे की लंबी पूछताछ के बाद, ED ने पाया कि देशमुख ने किसी भी सवाल का संतोषजनक जवाब नहीं दिया। ऐसे में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और अब उन्हें कस्टडी के लिए कोर्ट में पेश करने की तैयारी है। ED के सहायक निदेशक तसीन सुल्तान और उनकी टीम ने देशमुख से लगातार पूछताछ की। अब इस मामले में कुछ और लोगों की गिरफ्तारी संभव है। पिछले हफ्ते बॉम्बे उच्च न्यायालय ने अनिल देशमुख की याचिका खारिज कर दी थी, जिसमें ईडी के समन को रद्द करने की मांग की गई थी।

ED 100 करोड़ की वसूली मामले में मनी लॉन्ड्रिंग के एंगल से जांच कर रही है। देशमुख को उनके बेटे ऋषिकेश देशमुख और पत्नी के साथ दो बार पूछताछ के लिए बुलाया गया, लेकिन वे भी ईडी कार्यालय नहीं पहुंचे। माना जा रहा है कि देशमुख के बाद उनके बेटे और पत्नी भी आज या कल तक ईडी के सामने पेश हो सकते हैं।

पेशी के बाद अनिल देशमुख ने वीडियो मैसेज जारी किया

ED के सामने पेश होने के बाद देशमुख के सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया गया है। इसमें देशमुख ने कहा- ED ने जब भी तलब किया है, मैंने उनका सहयोग किया है। मैंने पहले ही कहा था कि मेरी याचिकाएं हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में लंबित हैं। इसके निस्तारण के बाद मैं ED कार्यालय आऊंगा। दो बार सीबीआई ने मेरे घर पर छापा मारा, उसमें भी मैंने पूरा सहयोग किया।

अभी भी मेरा फैसला सुप्रीम कोर्ट में नहीं आया है, लेकिन मैं खुद ईडी ऑफिस आया हूं। परमबीर सिंह ने मुझ पर झूठे आरोप लगाए। आज वही परमबीर सिंह विदेश भाग गया है, ऐसी खबरें मीडिया के जरिए आ रही हैं। वही परमबीर सिंह के खिलाफ पुलिस विभाग में कई शिकायतें दर्ज हैं।

CBI भी कर रही है देशमुख की जांच

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर और मौजूदा होमगार्ड डीजी परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर 100 करोड़ रुपये की रंगदारी वसूलने का आरोप लगाया है, जिसके लिए अनिल देशमुख को महाराष्ट्र के गृह मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

इस मामले में सीबीआई ने पहले देशमुख के खिलाफ मामला दर्ज किया था और फिर इसमें पैसे के लेन-देन की जानकारी मिलने के बाद ईडी की एंट्री हुई। ईडी ने अनिल देशमुख खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने देशमुख के परिसरों पर भी दो बार छापेमारी की है।

ED ने जब्त की थी देशमुख की दो प्रॉपर्टी

इसी मामले में 15 दिन पहले देशमुख और उनके परिवार की 4.2 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की गई थी। इसमें नागपुर में एक फ्लैट और पनवेल में एक जमीन शामिल है। इसी मामले में देशमुख के पीए संजीव पलांडे और पीएस कुंदन शिंदे को गिरफ्तार किया गया था, दोनों फिलहाल केंद्रीय एजेंसी की हिरासत में हैं।

अमित शाह पहुंचे जम्मू-कश्मीर; धारा 370 हटने के बाद पहला दौरा

Follow us on:

Facebook

Instagram

YouTube

Twitter