डेस्क न्यूज़: Lakhimpur Khiri (लखीमपुर खीरी) हिंसा मामले में जमकर राजनीति हो रही है। अब तमाम नेता इस मामले का राजनीतिक फायदा उठाने लखीमपुर खीरी पहुंच रहे हैं। कांग्रेस नेता प्रियंका वाड्रा को सीतापुर पुलिस ने पिछले 36 घंटे से हाउस अरेस्ट कर लिया है।

प्रियंका वाड्रा पर धारा-144 का उल्लंघन करने और शांति भंग करने के आरोप में धाराएं लगाई गई हैं। प्रियंका वाड्रा को कुछ समय बाद मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जा सकता है। इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कुछ देर बाद ट्वीट कर जानकारी दी कि वह लखनऊ के लिए रवाना हो गए हैं और किसानों के साथ न्याय किया जाएगा। वहीं, थोड़ी देर बाद उन्होंने ट्वीट किया कि उन्हें बिना किसी आदेश के लखनऊ एयरपोर्ट पर रोक दिया गया है। इसके विरोध में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लखनऊ एयरपोर्ट पर ही जमीन पर धरने पर बैठ गए। उन्होंने ट्विटर पर लखनऊ एयरपोर्ट परिसर में जमीन पर बैठी अपनी तस्वीर भी शेयर की है।

Lakhimpur Khiri

Lakhimpur Khiri हिंसा मामले में आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट

Lakhimpur Khiri (लखीमपुर खीरी) हिंसा में मारे गए आठ लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है और यह खुलासा हुआ है कि गोली लगने से मरने वालों में से किसी की भी मौत नहीं हुई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि कुछ की मौत सदमे से और कुछ की मौत खून बहने से हुई, लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गोली लगने की बात नहीं थी। गौरतलब है कि Lakhimpur Khiri (लखीमपुर खीरी) हिंसा मामले में मारे गए लोगों का सोमवार को पोस्टमार्टम किया गया था।

Lakhimpur Khiri हिंसा में मरने वालों की पूरी पोस्टमार्टम रिपोर्ट

  1. लवप्रीत सिंह (किसान)
  • घसीटने के कारण मौत हुई है। शरीर पर कई चोट के निशान मिले हैं। सदमे और रक्तस्राव मौत का कारण मौत हो गई है। नुकीली चीज से चोट लगी है।
  1. गुरविंदर सिंह (किसान)

गुरविंदर सिंह भी किसान थे और शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे। घसीटे जाने के कारण मौत हुई थी।

  1. दलजीत सिंह (किसान)
  • दलजीत सिंह के शरीर पर भी कई जगह घसीटे जाने के निशान थे।
  1. छत्र सिंह (किसान)
  • छत्र सिंह भी किसान थे और अचानक बवाल और हिंसा के कारण सदमे में आ गए थे। रक्तस्राव और कोमा के कारण मौत, घसीटे के निशान भी मिले।
  1. शुभम मिश्रा (भाजपा नेता)

शुभम मिश्रा को लाठियों से पीटा गया था। शरीर पर एक दर्जन से अधिक जगह चोट के निशान पाए गए हैं।

  1. हरिओम मिश्रा (अजय मिश्रा के चालक)

हरिओम मिश्रा को लाठी से बेदर्दी से पीटा गया था। शरीर पर गंभीर चोट के निशान थे। मौत से पहले भारी रक्तस्राव हुआ।

  1. श्याम सुंदर (भाजपा कार्यकर्ता)

भाजपा कार्यकर्ता श्याम सुंदर को लाठियों से पीटा गया था। कुचलने से एक दर्जन से ज्यादा जख्मी लोग जख्मी भी हुए थे।

  1. रमन कश्यप (स्थानीय पत्रकार)
  • इस पूरी घटना के कवर करने पहुंचे स्थानीय पत्रकार रमन कश्यप के शरीर पर मारपीट के गंभीर निशान। उनकी मौत सदमा और रक्तस्राव के कारण हुई ।

मृतक के परिजन को 45 लाख का मुआवजा

सोमवार को प्रशासन और किसानों के बीच समझौता हुआ जिसमें हिंसा में मारे गए 4 किसानों के परिवारों को 45-45 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा और परिवार के एक सदस्य को योग्यता के हिसाब से नौकरी दी जाएगी। साथ ही इस पूरी हिंसक घटना में घायल हुए लोगों को 10 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।

REET और SI भर्ती परीक्षा के खिलाफ धरना देंगे बेरोजगार!

Follow us on:

Facebook

Instagram

YouTube

Twitter