छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी का हुआ निधन, राज्य में 3 दिन का राजकीय शोक घोषित…

0
74
ajit jogi

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री रहे अजीत जोगी का शुक्रवार को निधन हो गया है। उन्हें 20 दिन के भीतर तीन बार दिल का दौरा पड़ा जिस वजह से उनकी स्थिति बेहद गंभीर हो गई थी। जोगी ने 74 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी ने ऑफिशल टि्वटर हैंडल से ट्वीट कर अपने पिता के निधन की जानकारी दी। उन्होंने लिखा-20 वर्षीय युवा छत्तीसगढ़ राज्य के सिर से आज उसके पिता का साया उठ गया। केवल मैंने ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ ने नेता नहीं,अपना पिता खोया है।माननीय अजीत जोगी जी ढाई करोड़ लोगों के अपने परिवार को छोड़ कर,ईश्वर के पास चले गए।गांव-गरीब का सहारा,छत्तीसगढ़ का दुलारा,हमसे बहुत दूर चला गया।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट करते हुए लिखा- वेदना की इस घड़ी में मैं निशब्द हूँ। परम पिता परमेश्वर माननीय अजीत जोगी जी की आत्मा को शांति और हम सबको शक्ति दे। उनका अंतिम संस्कार उनकी जन्मभूमि गौरेला में कल होगा।

वहीं, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी राज्य के पहले मुख्यमंत्री के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए लिखा- छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री श्री अजीत जोगी का निधन छत्तीसगढ़ प्रदेश के लिए एक बड़ी राजनीतिक क्षति है।हम सभी प्रदेशवासियों की यादों में वो सदैव जीवित रहेंगे।विनम्र श्रद्धांजलि।ॐ शांति:।

सीएम भूपेश बघेल ने एक अन्य ट्वीट करते हुए जानकारी देते हुए बताया कि- राज्य में आज से तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया जाता है। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और इस दौरान कोई भी शासकीय समारोह आयोजित नहीं किए जाएंगे।स्वर्गीय श्री जोगी का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होगा।

बता दें कि अजीत जोगी 9 मई से कोमा में थे। गले में इमली का बीज अटक जाने की वजह से उन्हें पहली बार दिल का दौरा पड़ा था। इसके बाद 27 मई की रात को भी उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। शुक्रवार को तीसरी बार दिल का दौरा पड़ने की वजह से डॉक्टरों ने उन्हें सीपीआर यानी कार्डियो पल्मनरी रेस्यूसाईटेशन भी दिया।