क्या 21 दिन से भी आगे बढ़ सकता है Lockdown ?

0
220
lockdown

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। चीन के वुहान से तांडव कर दुनियाभर में तबाही मचा देने वाला कोरोना वायरस भारत में भी अपने पैर पसार चुका है। गुरुवार को इस माहामारी ने भारत में 680 से अधिक लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। इससे कम्युनिटी स्तर पर फैलने से रोकने के लिए सरकार ने देश में 21 दिन के lockdown की घोषणा भी कर चुकी है। तो वही आज सरकार ने इससे लेकर 1.70 हज़ार करोड़ के राहत पैकेज का भी ऐलान किया है। इसी संदर्भ में काफी संभावनाएं जताई जा रही है की ये lockdown 21 दिन से आगे भी बढ़ाया जा सकता है। जिस तरह हर योजना को अगले 3 महीने के लिए तैयार किया गया उससे इस बात के कयास लगाए जा रहे है कि क्या ये लॉकडाउन का संकट 21 दिनों से बड़ा होने वाला है।

वहीं गुरुवार को मोदी सरकार ने कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन के ऐलान के बाद देश के गरीबों के लिए बड़ा ऐलान करते हुए के लिए 1 लाख 70 हजार करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि लॉकडाउन से प्रभावित गरीबों की मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए कैश ट्रांसफर भी किए जाएंगे, इसके अलावा कोरोना वारियर्स के लिए मेडिकल इंश्योरेंस भी उपलब्ध कराया जाएगा। कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए 21 दिनों तक सोशल डिस्टेंसिंग जारी रखने की बात कही है। इसी वजह से देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है। लेकिन अगर विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा दिए गए कुछ बयानों को गौर करें तो इनमें कहा गया है कि ये जरूरी नहीं है कि लॉकडाउन से ही कोरोना वायरस का खतरा खत्म हो जाता है, इसके लिए उन मरीजों की तलाश करना और इलाज करना जरूरी है जो इससे पीड़ित हैं।