केन्द्र सरकार का बड़ा कदम, आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने के लिए खुल सकते है ये 15 उद्योग!

0
33

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। कोरोना वायरस का प्रकोप भारत में बढ़ता ही जा रहा है। इससे संक्रमित मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। इसी बीच बता दें कि लॉकडाउन खत्म होने से एक दिन पहले आए स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कोरोना के 9,000 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं। वहीं मरने वालों की संख्या के आंकड़े 300 के पार पहुंच गए है। जानकारी के मिल रही है कि पिछले 24 घटों में कोरोना वायरस के 705 मरीज मिले हैं।

lockdown

बहरहाल इसी बीच बता दें कि ये तो तय है कि लॉकडाउन दो सप्ताह के लिए बढ़ेगा। लेकिन आर्थिक गतिविधियां शुरू करने के लिए केन्द्र सरकार अब तीन मानकों पर कार्य करेगी। जिसमें रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन बनाकर लॉकडाउन में कुछ राहत दे सकती है। बता दें कि उद्योग मंत्रालय ने टेक्सटाइल, निर्माण, जेम्स एंड ज्वेलरी जैसे करीब 15 बड़े औद्यौगिक क्षेत्रों में काम शुरू करने की सिफारिश की है। गौरतलब है कि कोविड19 के बढ़ते खतरे के बीच जहां पूरे देश में आम राय है कि लॉकडाउन बढ़ना चाहिए, वहीं अर्थव्यवस्था पर इसके असर को देखते हुए कई दिनों से बंद पड़े औद्योगिक पहिए को धीरे-धीरे पटरी पर लाने के लिए भी लोगो ने राय दी है। लेकिन अगर ये उद्योग खुलते है तो इनके लिए सरकार कुछ प्रावधाव व नियम लागू करेगी।

बता दें कि जिन उद्योगों को खोलने पर विचार किया जा रहा है। उन दिन भागों में बांटा गया है। ​जिनमें रेड जोन, इसके तहत हॉटस्पॉट वाले जिले, वहां पहले की तरह सबकुछ बंद रहेगा। दूसरा ऑरेंज जोन और तीसरा ग्रीन जोन इनमें बाजार खोले जा सकते है, लेकिन सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक आयोजनों सहित कई पर पाबंदी रहेगी। वहीं कुछ चुनिंदा देशों के लिए उड़ान सेवा भी शुरू हो सकती है। हालांकि, इस बारे में आखिरी फैसला प्रधानमंत्री के स्तर पर होना है। बतादें कि हाल ही में पीएम मोदी ने तीसरी बार सभी राज्यों के मुख्यमंत्रीयों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की और स्थिति पर जायजा लिया।