कोरोना वायरस से लड़ने के लिए इमरान खान ने मांगी आर्थिक मदद….

0
148
Imran khan & corona

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। महामारी बन चुके कोरोनावायरस ने पाकिस्तान में भी अपनी जड़ें मजबूत कर ली है। पाकिस्तान में कोरोना संक्रमितो की संख्या 990 पर पहुंच गई है। पाकिस्तान के अखबार द डॉन के मुताबिक कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित होने वाला क्षेत्र सिंध है। सिंध में अब तक कोरोना संक्रमण के 410 मामले सामने आ चुके हैं। पाकिस्तान के कई प्रांतों को लॉक डाउन भी किया जा चुका है लेकिन लोग लॉक डाउन तोड़कर कर रास्तों पर निकल रहे हैं। इससे परेशान होकर देश के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सख्ताई बरतते हुए कहा है कि अगर लोग लॉक डाउन तोड़ने से बाज नहीं आते हैं तो मजबूरन देश में कर्फ्यू लगाना पड़ेगा। इमरान खान ने कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए विदेशों में बैठे अपने नागरिकों से भी आर्थिक मदद मांगी है। एक इंटरव्यू के दौरान पीएम इमरान खान ने देश की माली हालत का जिक्र करते हुए कहा कि दुनिया को चाहिए कि वह उनकी मदद करें।
इमरान ने कहा कि उनके देश की हालत इटली या दूसरे यूरोपीय देशों की तरह नहीं है जहां पर कर्फ्यू लगाने के बाद भी वे अपने नागरिकों को जरूरत का सामान मुहैया करा दें। इसके साथ ही उन्होंने विदेशों में बसे अपने नागरिकों से भी अपील की है कि वह इस मुश्किल घड़ी में देश व अन्य नागरिकों की आर्थिक मदद करें। उन्होंने आगे कहा कि यदि लोगों ने उन्हें मजबूर किया तो देश में कर्फ्यू लगाना पड़ सकता है यह उन गरीबों के लिए बेहद नुकसानदायक होगा जो रोजाना कमा कर अपना जीवन बसर करते हैं। देश में उस समय है लोक डाउन लगा दिया गया था जब वायरस के 21 मामले सामने आए थे लेकिन अगर देश में कर्फ्यू लगा दिया जाए और उसके बाद भी वायरस के बढ़ने के मामले नहीं रुके तो उनके पास कोई भी अन्य विकल्प नहीं बचेगा। बता दें कि इमरान खान बार-बार देश को लॉक डाउन करने से बचते आए हैं और इसके लिए उन्होंने देश की खराब माली हालत को जिम्मेदार ठहराया है।