लॉक डाउन के चलते जनता को राहत देने के लिए सरकार का बड़ा ऐलान

0
27
Nirmala Sitaraman
The Minister of State for Commerce & Industry (Independent Charge), Smt. Nirmala Sitharaman addressing a press conference, in New Delhi on October 14, 2016.

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संकट के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। जिसमें वित्त मंत्री ने कोरोना संकट से निकलने के लिए 1लाख 70 हजार करोड़ रुपए के राहत पैकेज की घोषणा की है। इसके साथ ही वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि देश के 80 करोड़ गरीब लोगों को 3 महीने तक 10 किलो चावल या गेहूं और 1 किलो दाल मुफ्त दिया जाएगा। देश में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण पर लगाम कसने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अगले 21 दिन के लिए देश को लॉक डाउन करने का आदेश दिया था जिसके बाद से ही लोगों का जनजीवन और आर्थिक गतिविधियां ठहर गई है। रोजाना मेहनत मजदूरी करने वाले लोगों के सामने संकट सा आन पड़ा है।

लॉक डाउन से प्रभावित गरीबों की मदद करने के लिए सरकार ने कई बड़े कदम उठाए हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार किसी भी गरीब को भूखा नहीं सोने देगी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत जिन लोगों को तुरंत जरूरत है उनकी मदद की जाएगी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 80 करोड़ गरीब लोगों को राशन के अतिरिक्त 3 किलो गेहूं या चावल और 1 किलो दाल मुफ्त दी जाएगी। उज्जवला स्कीम के तहत 3 महीने तक फ्री सिलेंडर भी दिया जाएगा। वहीं, किसानों के खाते में अप्रैल के पहले हफ्ते में ही ₹2000 की किश्त डाल दी जाएगी। सरकार के द्वारा उठाए गए इस कदम से 8.69 करोड़ किसानों को फायदा मिलेगा। मनरेगा के तहत मजदूरी ₹182 से बढ़ाकर ₹202 कर दी गई है। 3 करोड़ महिला जनधन खाताधारकों को 500 रुपए प्रति माह अगले 3 महीने तक दिए जाएंगे।

3 करोड़ सीनियर सिटीजंस, विधवाओं, दिव्यांगों को डीबीटी का फायदा मिलेगा, 1000 रुपए दिए जाएंगे। बीपीएल परिवारों को भी अन्न, धन व गैस किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं होगी। बता दें कि कर्मचारी प्रोविडेंट फंड पर सरकार ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि सरकार 3 महीने कर्मचारी और नियोक्ता का ईपीएफ योगदान देगी। पूरा 24% सरकार की तरफ से ही दिया जाएगा। 100 से कम कर्मचारियों वाले संस्थानों, 15000 से कम वेतन पाने वाले कर्मचारियों ईपीएफ का लाभ मिलेगा। बता दें कि इससे पहले भी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अधिकारियों के साथ मिलकर मौजूदा हालातों पर चर्चा की थी। उन्होंने कहा था कि अगले 3 महीने तक किसी भी एटीएम से पैसे निकालने पर कोई चार्ज नहीं कटेगा साथ ही मिनिमम बैलेंस रखने की शर्त को भी खत्म कर दिया गया है।