लॉक डाउन के करण लाचार और बेबस प्रवासियों का फूटा गुस्सा, गुजरात में किया पुलिस पर पथराव, यूपी और हरियाणा में भी हुए एकत्र…

0
65
migrant workers

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। देश में लागू लॉक डाउन के चलते अलग-अलग हिस्सों में फंसे प्रवासियों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इतनी मुसीबतों के चलते अब इन लोगों का गुस्सा सरकार और प्रशासन पर फूटने लगा है। आज देश के 3 राज्यों में हजारों की संख्या में प्रवासी एकत्र हो गए। जिससे लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गई। गुजरात राज्य में लगातार पांचवीं बार प्रवासियों ने बवाल खड़ा कर दिया। गुजरात के अहमदाबाद में सैकड़ों की संख्या में प्रवासी पैदल ही अपने घरों के लिए निकल पड़े। पुलिस ने जब इन लोगों को रोकने की कोशिश की तो इन लोगों का गुस्सा पुलिस पर फूट पड़ा। इन लोगों ने मिलकर पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया जिसमें दो पुलिसकर्मी बुरी तरह से घायल हो गए।

वही, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के लिए रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए सैकड़ों की संख्या में प्रवासी मजदूर इकट्ठा हो गए। जिससे शहर में सोशल डिस्टेंसिंग पूरी तरह से फेल हो गई। दरअसल गाजियाबाद के रामलीला मैदान में उत्तर प्रदेश सरकार ने श्रमिकों के लिए स्पेशल कैंप लगाया हुआ है। यहां प्रवासियों को उनके घर भेजने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का रजिस्ट्रेशन करवाया जा रहा है।

इसके अलावा हरियाणा के सोनीपत में भी दो हजार से ज्यादा मजदूर एकजुट हो गए। यह सभी मजदूर कुंडली इंडस्ट्रियल एरिया में स्थित फैक्ट्रियों में काम करते थे। एक मजदूर ने अपनी पीड़ा बताते हुए कहा कि लॉक डाउन के 55 दिन यहां काट लिए हैं, लेकिन अब न तो हमारे पास काम है और ना ही पैसा बचा है। भूखे मरने से अच्छा है हम अपने घर चले जाएं। हम उत्तर प्रदेश और बिहार के अलग-अलग हिस्सों से हैं।अब हम लौट कर यहां कभी नहीं आएंगे।