“बाल श्रम निषेध दिवस” के मौके पर योगी आदित्यनाथ ने दिया बाल मजदूरों को बड़ा तोहफा…

0
137
yogi adityanath

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाल श्रम निषेध दिवस के मौके पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ‘बाल श्रमिक विद्या योजना ‘का उद्घाटन किया। सीएम आदित्यनाथ में बाल श्रमिकों को बड़ा तोहफा दिया है। प्रदेश का श्रम विभाग अब 2000 बाल श्रमिकों की पढ़ाई का पूरा खर्च उठाएगा। साथ ही उन्हें बाल श्रम से भी मुक्त कराएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को बाल विद्या योजना का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शुभारंभ करते हुए कहा कि 8 वर्ष की उम्र से लेकर 18 वर्ष तक के उन सभी बच्चों को जिन्हें स्कूल में होना चाहिए लेकिन पारिवारिक परिस्थितियों के कारण अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए बाल श्रम करना पड़ता है ऐसे बच्चों के लिए आज एक नई योजना’बाल श्रमिक विद्या योजना’उत्तर प्रदेश में प्रारंभ की जा रही है। इस योजना के तहत पहले चरण में जिन 57 जनपदों में सर्वाधिक बाल श्रम से जुड़े हुए कामकाजी बच्चे अब तक रिकॉर्ड किए गए हैं। वहां पर 2 हजार बच्चों का चयन करते हुए हाई स्कूल उत्तीर्ण करने तक बालकों को 1 हजार रुपए प्रति माह और बालिकाओं को 1200 प्रति माह देने की व्यवस्था के साथ ये योजना लागू की जा रही है।

सीएम आदित्यनाथ ने बताया कि बाल श्रमिक विद्या योजना’ में कक्षा 8वीं,9वींऔर 10वीं में पढ़ने वाले बच्चों को प्रति वर्ष 6000 रु. की अतिरिक्त सहायता देने का प्रावधान भी दिया गया है। बता दें कि शुरुआत में इस योजना का लाभ प्रदेश के 2000 बच्चों को दिया जाएगा। सीएम योगी ने कहा कि बाल निषेध दिवस के मौके पर प्रदेश सरकार बड़ा अभियान चलाकर गरीब और मजबूरी के कारण बाल श्रम करने वाले बच्चों को इससे मुक्ति दिलाएगी। इन बच्चों को बालश्रम से मुक्त कर बेहतर शिक्षा दिलाई जाएगी। आज हुए इस कार्यक्रम में श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और श्रम राज्य मंत्री मनोहर लाल मन्नू कोरी भी मौजूद रहे।