काम की तलाश में मजदूर वापस आने लगे हैं…फिर से मेट्रो सिटीज में

0
103
Labour return to work in cities

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। देखा जाये तो भारतीय अर्थवयव्स्था का मुलभुत ढाँचा है मजदूर वर्ग। कोरोना के चलते बड़ी संख्या में मजदूर वर्ग शहरों से गावों की और पलायन करने पर मजबुर हो गया था और मजबूर भी इतना की अपने गंतव्य स्थान यानि अपने परिवारों के साथ गावों की ओर बिना किसी साधन के ही हजारों किलोमीटर की यात्रा के लिए पैदल ही चल पड़े थे। कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन में अपने को असुरक्षित मानने वाला यही मजदूर वर्ग अपनी आजीविका के चलते वापिस इन्हीं शहरों की लौटते नजर आ रहे है।

Created by: Narendar singh dhillan

मिली जानकारी के अनुसार मुम्बई जैसे मेट्रो सिटीज से पलायन कर चुके मजदूर वापिस अपने काम पर लौटने लगे है। किसी-किसी को उनके मालिकों द्वारा ट्रैन टिकट भेजे गए है, तो दूसरी ओर बहुत से मजदूर अपनी-अपनी ट्रैन टिकट लेकर काम की तलाश में वापिस शहरों की ओर रुख किया है। कोरोना के कहर से कोई भी वर्ग अछुता नहीं है, इसका सीधा असर सभी वर्गों पर पड़ा है।

प्रदेश के सभी बड़े शहरों में भी काफी मात्रा में मजदूरों का जमावड़ा देखने को मिल रहा है। सुबह से ही ये सभी लोग काम की तलाश में जुट जाते है, ताकि अपने परिवार का भरण-पोषण अच्छे ढंग से कर सके।