अरनोद थाना क्षेत्र के लूपड़ी ग्राम पंचायत के जाम्बुखेड़ा गांव में पति ने पत्नी को 30 किलो जंजीर से बांधकर कच्ची टापरी में कैद कर लिया। महिला अपनी मां की देखभाल के लिए बार-बार पीहर जाती थी, इस कारण पति उसके चरित्र पर शक करता था। महिला का बड़ा बेटा और तीन चचेरे देवर भी शामिल थे। जो उसे तीन माह से यातना दे रहे थे। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर महिला का आजाद करा दिया है।

थानाधिकारी रविंद्र सिंह ने बताया कि कांस्टेबल नेमीचंद को जानकारी मिली कि भैरुलाल मीणा पुत्र नंदा निवासी जाम्बुरेल थाना अरनोद ने अपनी पत्नी को करीब तीन महीने से लोहे की जंजीर से अपने मकान के पास एक कच्ची टापरी में बांध रखा है।

orig30pratapgarh pg1 0 21625081880 1625105663

भैरुलाल उसको काफी परेशान कर रहा है। जब इस मामले की जानकारी पुलिस को मिली तो वे पीड़िता के घर पहुंची और उसे जंजीर के साथ थाने लाई पति की हैवानियत यहां तक नहीं रूकी। पुलिस ने आरोपी पति को फोन कर तालों की चाबी लेकर बुलाया तो वहां भी उसने उन्हें 15 मिनट तक इंतजार करवाया। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसकी मां अकेली है और वह घर पर उसका हाथ बटाने जाती थी और पति को शक था कि उसके अवैध संबंध है। इसी बात पर पति ने उसे जंजीर में कैद कर दिया। इतना ही नहीं तीन महीने तक उसके साथ इतनी मारपीट की कि उसके पैरों में सूजन आ गई और ढंग से चल भी नहीं पा रही है। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपी पति और बेटे समेत 5 को गिरफ्तार किया है।

screenshot www.bhaskar.com 2021.07.01 11 40 03
45664555 2