मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। देश की राजधानी दिल्ली की बॉर्डर पर इन दिनों किसान सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि बिलों को रद्द करने की मांग पर अड़े हुए है। साथ ही अब इस आंदोलन को ओर तेजी करने का ऐलान कर रहे है। इसी बीच बता दे कि किसानों ने शनिवार को सभी राज्य और जिलों के हाइवे पर चक्का जाम करने का निर्णय लिया है।

IMG 20210105 WA0058

जानकारी के अनुसार गाजीपुर बॉर्डर से किसान नेता जगतार सिंह बाजवा ने इस संबंध में जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि सभी राज्य और जिलों के हाइवे पर शनिवार 6 फरवरी को 12 बजे से 3 बजे तक चक्का जाम की स्थिति रहेगी। बहरहाल इसी बीच बता दें कि यूपी के बाद अब राजस्थान में भी किसान आंदोलन तेज होता जा रहा है।

j 3

किसान आंदोलन को ओर तेजी देने के लिए अब राजस्थान में किसान पंचायतों का दौर शुरू हो गया है। ये दौर फरवरी के आखिर तक चलेगी। इनका आयोजन राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी) की तरफ से किया जा रहा है। आरएलडी ने पिछले हफ्ते किसान आंदोलन को समर्थन देने का ऐलान किया था। हाल ही में आरएलडी के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने बताया कि किसान पंचायतों का मकसद सरकार को यह बताना है कि यह एक बड़ा आंदोलन है। इसमें राजनीतिक दलों की जिम्मेदारी बनती है कि वे किसानों तक पहुंचें और दूसरे लोगों को भी इस मुद्दे की संवेदनशीलता बताएं। बता दें कि हाल ही में जयंत चौधरी ने राकेश टिकैत से मुलाकात की। गौरतलब है कि कृषि कानूनों को लेकर किसानों की केन्द्र सरकार के मंत्रियों के साथ कई दौर की वार्ता हो चुकी है, लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार का परिणाम नहीं निकला है।