Marudhar Desk: दुनियाभर में तबाही मचा चुके कोरोना वायरस का अब नया वैरिएंट ओमिक्रोन आ चुका है। ओमिक्रोन ने भी सभी देशों में दस्तक दे दी है। तेज रफ्तार से फैलने वाले इस नए वैरिएंट को लेकर दुनियाभर के वैज्ञानिक शोध में जुटे हुए है। सभी वैज्ञानिकों की यही कोशिश है कि इस वैरिएंट के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाई जा सके। वहीं, हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर इस वैरिएंट के लक्षणों को नजरअंदाज किया गया या लापरवाही बरती गई तो इसका खामियाजा भुगतना पड सकता है। डॉक्टर्स ने ओमिक्रॉन के एक असामान्य लक्षण के बारे में बताया है जिस पर आमतौर पर लोग ध्यान नहीं देते हैं। आमतौर पर कोरोना के सबसे आम लक्षणों में स्वाद और सुगंध का चले जाना, बुखार, गले मे खराश और शरीर दर्द शामिल हैं। हालांकि, ओमिक्रॉन के हर मरीजों में ये लक्षण नहीं पाए जा रहे हैं। कई मरीज तो ऐसे है जिनमें कोई लक्षण दिखाई नही दे रहे है लेकिन उनकी रिपोर्ट में ओमिक्रोन वैरिएंट पाया गया है। अब तक के डेटा के आधार पर वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना के केवल 50% मरीजों को बुखार, कफ और स्वाद-सुंगध की कमी का एहसास हो रहा है। हालांकि, ओमिक्रॉन के ज्यादातर मरीजों में एक खास लक्षण जरूर पाया जा रहा है और वो है भूख ना लगना। अगर आपको कुछ अन्य लक्षणों के साथ भूख नहीं लग रही है तो आपको किसी डॉक्टर या एक्सपर्ट से जरूर परामर्श लेना चाहिए और उसके बाद कोविड टेस्ट करा लेना चाहिए। बता दें कि देश में कोरोना के ग्राफ में बढ़ोतरी के साथ ओमिक्रोन के केसज में भी तेजी देखई जा रही है। देश में सोमवार को कोरोना के 33, 750 मामले सामने आए जबकि 123 लोगों की कोरोना से जान गई। वहीं, देश में ओमिक्रोन के अभी तक 1700 मामले सामने आ चुके है।