अब इस बड़ी कंपनी पर भी पडी कोरोना की मार, 1100 कर्मचारियों की छंटनी की तैयारी!

0
47

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। कोरोना वायरस का कहर मानव क्षति पर तो पड़ता साफ नजर आ रहा है। लेकिन अब इसका बुरा प्रभाव आर्थिक स्थिति पर भी साफ नजर आ रहा है। देश की बड़ी बड़ी कंपनियों के भी अब कोविड19 से चक्के जाम होते नजर आ रहे है। जिसका खामियाजा अब इन कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों पर पड़ रहा है।

कोरोना से बचने के साथ ही अब शौक भी किया पूरा, बनवाया इतने हजार का मास्क

जानकारी के अनुसार हाल ही में सबसे बड़ी कंपनी टाटा मोटर्स ने ऐसा ही संकेत दिया है। जिसका खामियाजा कंपनी में काम करने वाले हजारों कर्मचारियों को भुगतना पड़ सकता है। खबर मिल रही है टाटा मोटर्स कि जगुआर लैंड रोवर से करीब 1100 अस्थायी नौकरियां जा सकती हैं और इसके पीछे का कारण कोरोना वायरस बताया जा रहा है। कोरोना काल में टाटा मोटर्स गाड़ियों की डिमांड बहुत कम होती जा रही है।

हालांकि टाटा मोटर्स ने अपनी कंपनी जगुआर लैंड रोवर यूनिट में मार्च 2021 तक 5 अरब पाउंड की बचत करने की उम्मीद की है। गौरतलब है कि इन दिनों टाटा मोटर्स अपने सभी व्यवसायों की समीक्षा करती हुई नजर आ रही है। जिसके तहत ऐसे कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है, जिनका कंपनी में योगदान न के बराबर है। साथ ही बता दे कि कंपनी ने चौ​थी तिमा​ही में कुल 98,940 करोड़ रुपये के घाटे की घोषणा की है। इसी के साथ ही बता दें कि कोरोना काल में ये कदम केवल टाटा मोटर्स ही नहीं ​उठा रही बल्कि अन्य बड़ी कंपनियां भी कम मांग के चलते घाटा झेल रही हैं, और इसका सीधा असर वहां काम करने वाले कर्मचारियों की नौकरी पर पड़ रहा है। इतना ही नहीं हाल ही में उबर, ओला जैसी कंपनियों ने भी अपने यहां से हजारों कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया है।