सोनिया गांधी ने महाबैठक में केन्द्र सरकार से की अब ये मांग, साथ ही मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के पैकेज को बताया…

0
40
soniya gandhi

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। कोरोना संकट के बीच आज एक बार कांग्रेस की अंतरिम राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रमुख वि​पक्षी दलों के साथ बैठक की। विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक की शुरुआत में चक्रवाती तूफान अम्फान में जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि दी गई और इसके बाद मीटिंग की शुरुआत की।

अगर बचना है कोरोना के कहर से, तो घर में करें ये उपाय विशेषज्ञों ने लगाई मुहर!

बैठक में कोरोना वायरस महामारी के बीच प्रवासी श्रमिकों की स्थिति और मौजूदा संकट से निपटने के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदमों और आर्थिक पैकेज पर मुख्य रूप से चर्चा हुई। इसके बाद सोनिया गांधी ने कहा कि, सरकार लॉकडाउन के दिशा-निर्देशों को लेकर असमंजस में है और ना ही उसने इससे निकलने की कोई रणनीति तैयार की है। संकट के इस समय भी सारी शक्तियां प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) तक सीमित हैं। इतना ही नहीं कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष ने तो मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के पैकेज को एक क्रूर मजाक तक कह दिया। साथ ही बैठक में विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार से तुरंत अम्फान चक्रवाती तूफान को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने का आग्रह किया और प्रभावित राज्यों को इस आपदा के प्रभाव से निपटने में मदद की मांग की।

साथ ही बता दें कि आज हुई बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, शिवसेना प्रमुख एवं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता शरद पवार, द्रमुक नेता एमके स्टालिन, राजद नेता तेजस्वी यादव सहित कई बड़े नेता शामिल हुए है। हालांकि मिल रही जानकारी के अनुसार इस विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में एसपी, बीएसपी और आम आदमी पार्टी ने हिस्सा नहीं लिया।