राजस्थान में राज्यसभा दंगल, कांग्रेस के दो और भाजपा के एक प्रत्याशी की जीत तय…

0
40
rajyasabha election

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। राजस्थान में राज्यसभा की 3 सीटों के लिए मतदान की प्रक्रिया 19 जून सुबह 9:00 बजे शुरू हो गई है। मतदान की प्रक्रिया शुक्रवार शाम 5:00 बजे तक चलेगी। जिसके बाद वोटों की गिनती शुरू होगी। राजस्थान में राज्यसभा चुनावों को लेकर पिछले कुछ समय से सियासत गरमाई हुई है। कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। प्रदेश में राज्यसभा की 3 सीटों के लिए चार उम्मीदवार सियासी मैदान में उतरे हैं। 4 प्रत्याशियों को मैदान में होने से एक प्रत्याशी को जीत के लिए 51 वोट चाहिए। अगर संख्या बल के अनुसार देखा जाए तो राजस्थान में कांग्रेस पार्टी का पलड़ा भारी दिखाएं पड़ रहा है। प्रदेश में राज्यसभा की 3 सीटों पर 2 सीटों पर कांग्रेस और एक सीट पर भाजपा की जीत तय मानी जा रही है। हालांकि दोनों ही पार्टियों ने दो-दो प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं। कांग्रेस की तरफ से संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और नीरज डांगी को सियासी मैदान में उतारा गया है जबकि भाजपा की तरफ से राजेंद्र गहलोत और ओंकार सिंह लखावत को प्रत्याशी बनाया गया है। बता दें कि कांग्रेस के पास फिलहाल 107 विधायक हैं।

प्रदेश में राज्यसभा की 3 सीटों के लिए 4 प्रत्याशी मैदान में हैं तो ऐसे में एक प्रत्याशी को जीत के लिए 51 वोट चाहिए। ऐसे में कांग्रेस के 2 विधायकों को जीत के लिए 102 मतों की जरूरत है। इस लिहाज से कांग्रेस के प्रत्याशियों की जीत लगभग तय मानी जा रही है। दूसरी ओर भाजपा के पास 75 विधायक हैं। जिसके अनुसार उनके पहले प्रत्याशी की 51 वोटों से जीत तय मानी जा रही। जिसके बाद बीजेपी के पास 24 वोट बचते हैं अगर पार्टी 27 मतों का इंतजाम कर लेती है तो उसका दूसरा प्रत्याशी भी राज्यसभा पहुंच सकता है। 13 निर्दलीयों में से फिलहाल 12 निर्दलीय कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं इसलिए भाजपा के लिए 27 वोटों का जुगाड़ करना आसान नहीं होगा। हालांकि कांग्रेस बीजेपी पर आरोप लगा चुकी है कि पार्टी ने विधायकों को प्रलोभन दिया है। बता दें कि राज्यसभा चुनाव के मतदान के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग समेत सभी हेल्थ प्रोटोकॉल की पालना करना अनिवार्य है।