राजस्थान राज्य बेरोजगार नर्सेज एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री व चिकित्सा मंत्री को कई बार पत्र भेजकर व ट्विटर पर ट्वीट कर नर्सिंग की समस्याओं के समाधान करने की मांग की है। लेकिन आज तक कोई भी समस्या का निराकरण नही किया गया, संगठन के प्रदेशाध्यक्ष राजवीर यादव दिवराला ने बताया कि वर्तमान में गांवों व ढाणियों में फैल रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार को स्थायी भर्ती करनी चाहिए। लेकिन सरकार ने स्वास्थ्य विभाग में 25000 पदों पर कोविड स्वास्थ्य सहायक पर भर्ती निकाली है, यह भर्ती सिर्फ दो महीने के लिए है , सरकार नर्सिंग छात्रों का शोषण करना बंद करें। दिवराला ने कहा कि एसोसिएशन इस भर्ती का पुरजोर तरीके से विरोध करता है और नर्सेज का आर्थिक व मानसिक शोषण नही होने देंगे। इसलिए इन पदों को स्थायी भर्ती से भरा जाना चाहिए। रिंकू यादव कोटपूतली, अशोक सैनी गुढा , दीपक यादव , गौरीशंकर गुर्जर इत्यादि ने कहा कि सरकार को नर्सिंग स्टाफ का वेतनमान 26500 रुपये प्रतिमाह करना चाहिए, लेकिन सरकार ने कोविड स्वास्थ्य सहायक का वेतनमान 7900 रुपये रखा है वह बहुत ही कम है इससे परिवार का पालन पोषण भी सही तरीके से नही हो सकता ।