भरतपुर शहर के काली बगीची एरिया में आज शाम को अज्ञात हमलावरों ने डॉक्टर दंपति की गोली मारकर हत्या कर दी घटना की सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंचे खबर लिखे जाने तक हत्यारों की तलाश में नाकेबंदी कराई गई लेकिन अभी तक उनका सुराग नहीं मिल पाया है ।शहर के श्री राम हॉस्पिटल के संचालक डॉ सदीप गुप्ता और उनकी पत्नी डॉ सीमा गुप्ता कार में सवार होकर जा रहे थे इसी बीच बाइक पर आए हमलावरों ने गाड़ी रुकवा कर दनादन गोलियां दाग दी अचानक हुई इस फायरिंग से सेक्टर में एकदम हड़ताल और सनसनी मच गई।सूचना मिलते ही तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची और डॉक्टर दंपति को आरबीएम अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया घटना की सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता और पुलिस अधीक्षक देवेंद्र विश्नोई आरबीएम अस्पताल पहुंचे तथा पुलिस में हमलावरों की तलाश में नाकेबंदी करवा दी गई है।बताया जाता है इस हत्याकांड की तस्वीरें आसपास के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई जिनके फुटेज पुलिस ने निकलवाए हैं । प्रारंभिक जानकारी में सामने आया है कि नीता के भाई ने यह गोलियां चलाई हैविदित है की डाॅक्टर सदीप गुप्ता के श्री राम अस्पताल की रिसेप्शनिस्ट दीपा गुर्जर और उसके 8 साल के बच्चे शौर्य को 2 साल पूर्व जलाने के मामले में डॉक्टर और उनकी पत्नी को जेल हुई थी।बताया जाता है डाॅक्टर सीमा को शक था की उसके पति डॉक्टर सदीप और रिसेप्शनिस्ट के बीच अफैयर था और इसी शक मे दो साल पहले डाॅक्टर सीमा ने आग लगा कर मार डाला था ।आग लगाने के बाद कहा- हमने लगाई आग बचा सको तो बचा लो आग लगने के बाद मकान के आसपास भीड़ जमा हो गई। इस दौरान वहां मौजूद डॉ. सीमा और उसकी सास सुरेखा लोगों से कह रही थी, हमने लगाई आग कोई बचा सको तो बचा लो ।प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार यहीं से डॉ. सीमा ने अपने पति को फोन कर आग लगाने की जानकारी दी थी। । डाॅक्टर सीमा कुछ समय पहले ही जेल से पैरोल पर बाहर आई थी जबकी डाॅक्टर सदीप पहले ही रिहा हो गया था ।