कल शाम भरतपुर में हुई घटना फिल्मी सी है, लेकिन है सच।और इस सच की कहानी, वारदात के पीछे का रहस्य विस्तार से आपको बताते है। भरतपुर में अपने ही अस्पताल में रिसेप्शनिस्ट दीपा गुर्जर के साथ डॉक्टर सुदीप गुप्ता का अफेयर था। इसी अफेयर के कारण दो साल में एक मासूम बच्चे सहित चार लोगों की हत्या हुई है। पहले अवैध संबंधों से नाराज डॉक्टर सुदीप की पत्नी डॉक्टर सीमा ने आलीशान विला में रह रही दीपा गुर्जर और उसके मासूम बेटे शौर्य को घर में आग लगाकर जिंदा जलाकर मार दिया था। इसके बाद डॉक्टर दंपती जमानत पर जेल से बाहर थे। दीपा का भाई जब भी डॉक्टर दंपती को देखता था तो उसका खून खौल उठता था। वह बदले की आग में जल रहा था। उसे शुक्रवार को मौका मिला और उसने अपने साथी के साथ मिलकर डॉक्टर दंपती की हत्या कर दी…… दूसरी तरफ बहन दीपा गुर्जर और भांजे शौर्य की मौत का बदला लेने के लिए भाई अनुज ने अपने रिश्तेदार महेश के साथ मिलकर शुक्रवार को दिनदहाड़े भरतपुर में नामी डॉक्टर सुदीप और उनकी पत्नी डॉक्टर सीमा गुप्ता की नीमदा गेट के पास ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या कर दी गई। वारदात के बाद सामने आए CCTV फुटेज से सामने आया कि हत्या में शामिल दीपा गुर्जर का भाई अनुज और दूसरा महेश था। दोनों धौलपुर के रहने वाले हैं। इनकी तलाश जारी है। अवैध संबंध में चार जिंदगियों के खत्म होने की ये अनकही कहानी…. धौलपुर की रहने वाली दीपा गुर्जर करीब छह साल पहले अपने पति से अलगाव के बाद भरतपुर आ गई थी। उसने शहर में ही नामी डॉक्टर सीमा गुप्ता द्वारा संचालित श्रीराम हॉस्पिटल में बतौर रिसेप्शिनिस्ट नौकरी करना शुरू कर दिया। इसी दौरान डॉ. सीमा के पति डॉ. सुदीप और रिसेप्शनिस्ट दीपा से मुलाकात हुई। उनके बीच नजदीकियां बढ़ने लगीं। इन संबंधों की भनक डॉक्टर सुदीप की पत्नी डॉ. सीमा को लगी। अवैध संबंधों का संदेह होने पर डॉक्टर सीमा ने दीपा को नौकरी से निकाल दिया था। डॉ. सीमा ने दीपा को हिदायत भी दी थी कि वह उनके पति डॉ. सुदीप से दूर रहे। उनसे मेल मिलाप नहीं रखे। फिर भी डॉ. सुदीप व दीपा की मुलाकात जारी रही…. नवंबर 2019 में दीपा गुर्जर की हत्या के बाद डॉक्टर सुदीप गुप्ता की पत्नी आरोपी डॉक्टर सीमा गुप्ता ने पूछताछ में खुलासा किया था कि उन्होंने भरतपुर की सूर्या सिटी जैसी पॉश कॉलोनी में एक बेशकीमती विला (मकान) खरीदा था। इसमें करीब नौ-दस माह पहले डॉक्टर सीमा के पति डॉक्टर सुदीप गुप्ता ने अपनी कथित प्रेमिका दीपा गुर्जर को लाखों रुपए कीमत का यह विला रहने को दे दिया। इसमें अत्याधुनिक फर्नीचर व अन्य सामान लगवाया था। कथित प्रेमिका दीपा गुर्जर अपने छह साल के बेटे शौर्य के साथ रह रही थी। डॉक्टर सीमा ने पूछताछ में बताया कि उनके पति सुदीप ने यह बात उनसे छिपाकर रखी थी। इसके बाद तैश में आकर डॉ. सीमा अपनी सास को लेकर सूर्या सिटी स्थित अपने विला पहुंची। जहां तकरार के बाद आरोप था कि सीमा गुप्ता ने दीपा और उसके बेटे शौर्य को रसोईघर में बंद कर दिया। इसके बाद घर में स्प्रिट छिड़ककर आग लगा दी। इससे दीपा गुर्जर और उसके बेटे की जिंदा जलने से दर्दनाक मौत हो गई थी….. पुलिस के अनुसार दीपा गुर्जर और शौर्य की जिंदा जलाकर हत्या करने के बाद उसका भाई अनुज बदला लेने की फिराक में था। डॉक्टर सुदीप और डॉक्टर सीमा के जेल से बाहर आने पर अनुज ने अपने मामा के लड़के महेश के साथ मिलकर डॉक्टर दंपती की हत्या की योजना बनाई। उनकी रेकी करना शुरू किया।लॉकडाउन में सड़कें सूनी होने पर अनुज को मौका मिल गया। 28 मई को शाम 5 बजे डॉक्टर दंपती अपनी कार से श्री राधा चौराहे की ओर जा रहे थे। इस दौरान नीम दा गेट के पास दो बदमाशों ने उनकी गाड़ी को बाइक आगे लगाकर रुकवाया। खुद बाइक से उतरे और कार में मौजूद डॉक्टर सुदीप व उनकी पत्नी सीमा को ताबड़तोड़ गोलियां मारने के बाद भाग निकले।

IMG 20210528 201529 1