यह मामला नागौर जिले के परबतसर विधानसभा की ग्राम पंचायत बड़ू का है जहां पर माली समाज के एक ही गोत्र के लड़का और लड़की ने प्रेम विवाह रचाया है। जानकारी के अनुसार यह लड़का और लड़की गाजियाबाद के आर्य समाज में अपनी शादी की रश्म अदा की है। यह मामला करीबन 20 दिन पहले का है जहां पर माली समाज के एक ही गोत्र के लड़का और लड़की ने विवाह रचाया है जिसको लेकर के माली सैनी समाज के संपूर्ण जिलेभर राजस्थान में विरोध जारी है लेकिन इस ओर आज तक किसी भी जनप्रतिनिधि व अधिकारियों का ध्यान नहीं दिया गया है जबकि हिंदू समाज में एक ही गोत्र क्या विवाह करना उचित नहीं है मरुधर बुलेटिन की टीम जब पूरी जानकारी जुटाने के लिए बडू ग्रामपंचायत में पहुंची तो वहां से विवाह प्रसंग को लेकर के लड़के के परिजनों वह समाज के ग्रामीणों के साथ ग्राम पंचायत के सरपंच सुरेश गहलोत से बातचीत की तो इस प्रेम विवाह का जमकर विरोध किया तथा ऐसे आर्य समाज में जो विवाह करवाए जाते हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। ऐसे में जावे राजस्थान में इस बार है गहलोत सरकार होने के बावजूद भी अगर ऐसे मामले को लेकर के सामने नही आते हैं तो कहीं ना कहीं कानून व्यवस्था की कमजोरी साफ नजर आ रही है