कानपुर हमले पर तेज हुई सियासत, चौतरफा घेरी जा रही योगी सरकार…

0
23
politics on kanpur encounter

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। उत्तर प्रदेश के कानपुर में गुरुवार देर रात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर जानलेवा हमला किया गया। इस हमले में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। इस हमले में एक नागरिक समेत सात पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पूरे मामले पर डीजीपी को सख्त रुख अपनाने की हिदायत दी है। वहीं, अब इस घटना पर सियासत तेज होती हुई दिखाई दे रही है। चारों तरफ से उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को घेरा जा रहा है। बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा- कानपूर में शातिर अपराधियों द्वारा एक भिड़न्त में डिप्टी एसपी सहित 8 पुलिसकर्मियों की मौत व 7 अन्य के आज तड़के घायल होने की घटना अति-दुःखद, शर्मनाक व दुर्भाग्यपूर्ण। स्पष्ट है कि यूपी सरकार को खासकर कानून-व्यवस्था के मामले में और भी अधिक चुस्त व दुरुस्त होने की जरूरत है। इस सनसनीखेज घटना के लिए अपराधियों को सरकार को किसी भी कीमत पर छोड़ना नहीं चाहिए, चाहे इसके लिए विशेष अभियान चलाने की जरूरत क्यों न पड़े। सरकार मृतक पुलिस के परिवार को समुचित अनुग्रह राशि के साथ ही परिवार के किसी सदस्य को नौकरी भी दे, बीएसपी की यह मांग है।

इस पूरी घटना पर सपा अध्यक्ष ने भी योगी सरकार को निशाने पर लिया है। अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा- कानपुर की दुखद घटना में पुलिस के 8 वीरों की शहादत को श्रद्धांजलि!उप्र के आपराधिक जगत की इस सबसे शर्मनाक घटना में ‘सत्ताधारियों और अपराधियों ‘की मिलीभगत का ख़ामियाज़ा कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ा है।अपराधियों को जिंदा पकड़कर वर्तमान सत्ता का भंडाफोड़ होना चाहिए। उप्र की भाजपा सरकार अपनी पोलपट्टी खुलने के डर से आनन-फ़ानन में मुख्य अपराधी को न पकड़कर छोटी-मोटी मुठभेड़ दिखाने का नाटक करवा रही है। इससे पुलिसकर्मियों का मनोबल और गिरेगा तथा पुलिस का आक्रोश भी बढ़ेगा। सरकार तुरंत मुआवज़ा घोषित करे व परिजनों को हर संभव संरक्षण दे। निंदनीय! 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा – बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी जिसमें यूपी पुलिस के सीओ, एसओ सहित 8 जवान शहीद हो गए। यूपी पुलिस के इन शहीदों के परिजनों के साथ मेरी शोक संवेदनाएं।यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं। …आमजन व पुलिस तक सुरक्षित नहीं है। कानून व्यवस्था का जिम्मा खुद सीएम के पास है। इतनी भयावह घटना के बाद  उन्हें सख़्त  कार्यवाही करनी चाहिए। कोई भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करते हुए लिखा- यूपी में अपराधियों के साथ मुठभेड़ में आठ पुलिस कर्मी शहीद हो गए हैं।  यह दर्शाता है कि राज्य में कानून व्यवस्था बिल्कुल खराब हो चुकी है और अपराधी बेखौफ हैं।  शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है।  ईश्वर उन्हें इस दुखद समय में शक्ति प्रदान करे।