पुलिस ने किया ब्लाइंड मर्डर का पर्दाफाश, पति ने ही महिला की गला घोटकर की हत्या

0
198

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। बुधवार को पुलिस अधीक्षक कोटा ग्रामीण शरद चौधरी ने बताया कि बुधवार को पुलिस थाना इटावा द्वारा चम्बल नदी गैंता में अज्ञात महिला की 2 महिने पूर्व हत्या कर फेंकी गई लाश के मामले का खुलासा कर महिला की हत्या के आरोपी पति मुल्जिम नरेश मीणा पुत्र हनुमान मीणा निवासी सवाई माधोपुर को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि दिनांक 17 नवंबर 2020 को थाना इटावा के ग्राम गैता माखिदा चम्बल पुलिया के नीचे पानी में एक महिला की लाश पडी मिली थी जो बेडशीट में बधी हुई पानी में पडी मिली। लाश को पानी से बाहर निकाल कर बेडशीट को खोलकर देखा तो मृत्तका महिला का रंग गेहुंआ, इकहरा बदन, कद करीब 5 फुट, उम्र करीब 30 साल थी। मांग भरी हुई माथें पर लाल बिन्दी थी तथा दाहिनें हाथ के पजें पर ऊ गुदा हुआ था। साथ ही नाक से खुन आया हुआ था। जीभ दातों के बीच दबी हुई व बायें कान के नीचें की तरफ चोट थी गलें में गर्दन पर तथा दाहिनें हाथ की कलाई पर नीलगु निशान आये हुयें थे। घटना स्थल व निरीक्षण से ऐसा प्रतीत हो रहा था कि महिला की हत्या कर लाश यहां पर फेकी गई है। इस पर प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया।

मृत्तका की शिनाख्त के प्रयास: अज्ञात महिला की शिनाख्त हेतु सभी पुलिस थाना कोटा, श्योपुर, सवाईमाधोपुर, बुन्दी को रेडियोग्राम किये गये। मृत्तक महिला के फोटो भिजवायें गये परन्तु महिला की शिनाख्त नही हो पाई।

टीम का गठन: घटना की गंभीरता को देखते हुये प्रकरण का खुलासा करने हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री पारस जैन के सुपरविजन, वृत्ताधिकारी इटावा विजयशंकर के निर्देशन तथा थानाधिकारी इटावा बजरंगलाल पु0नि0 के नेतृत्व में टीम का गठन किया जाकर आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये थे।

टीम द्वारा थानाधिकारी कोतवाली सवाईमाधोपुर से सम्पर्क कर उक्त लाश के बारें जानकारी दी। जिस पर ज्ञात हुआ कि कोतवाली सवाईमाधोपुर में एक महिला की फरारी का प्रकरण दर्ज है। जो मिल नहीं रही तथा उसका हुलिया मिलता जुलता है। इस पर उक्त महिला के माता पिता को हुलिया बताने पर अपनी पुत्री मौसमी मीणा होना बताया। थानाधिकारी कोतवाली सवाईमाधोपुर की सहायता से महिला के पति नरेश मीणा पुत्र हनुमान को उसके घर से डिटेन किया जाकर पुछताछ की तो पहले तो अपनी पत्नी की फरारी की झुठी कहानी गढता रहा। परन्तु तकनीकी तरीको से गहन अनुसंधान करने पर मौसमी मीणा की स्वंय ने ही हत्या कर लाश बेडशीट में बांधकर नदी में फैकना स्वीकार किया।

अवैध सम्बन्धों का शक बना हत्या का कारण: मृत्तका मौसमी व नरेश मीणा दोनों सम्बधी होने से पूर्व परिचित थे तथा इनके मध्य प्रेम सम्बन्ध रहे थे। इस दौरान मौसमी का विवाह मुकेश मीणा निवासी बालापुरा नगर फोर्ट टोंक के साथ हो गया तथा नरेश भी जयपुर में रहकर कार्य करने लगा। परन्तु 6 वर्ष पूर्व मौसमी मीणा ने अपने पति को छोड़कर नरेश के पास जाकर रहने लगी तथा इससे शादी कर ली। जिससें इनके एक पुत्र है। नोटबन्दी के बाद नरेश का काम बन्द होने से वह जयपुर छोडकर गांव आ गया तथा सवाईमाधोपुर में श्यामनगर में किरायें के मकान में रहने लगा। यहां पर मौसमी मीणा अपने मौसा कालु मीणा से मिलने जाती रहती थी। इसका नरेश विरोध करता था तथा वह मौसमी व उसके मौसा के मध्य अवैध सम्बधों का शक करता था। इस कारण इनके कभी-कभी विवाद भी होता रहता था। दिनांक 15-11-20 को इसी बात पर नरेश का मौसमी से झगडा होने पर मौसमी मीणा की गला घोटकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद लाश को ठिकाने लगाने के लियें बेडशीट में बांध कर एक बड़े बैग में भरकर मोटरसाईकिल से गैता पुलिया पर आकर लाश को पटक कर चला गया।

मुल्जिम ने सवाईमाधोपुर कोतवाली में करवाई फरारी की रिपोर्टः मृत्तका मौसमी मीणा की हत्या के बाद उसके बच्चे मम्मी के लिये रोते थे। इस पर किसी ने उसके नाना नानी को तथा मौसा को सूचना दी की मौसमी मीणा घर पर नही है तब नरेश से पुछा तो उसके मौसा कालु मीणा के साथ भागने व घर से 20 हजार रुपए ले जाने की बात कही। फिर थाना कोतवाली सवाईमाधोपुर में रिपोर्ट भी दर्ज करवा दी। मृत्तका मौसमी मीणा के माता पिता ने भी अपनी लडकी मौसमी के गायब होने की रिपोर्ट दे रखी थी। मुल्जिम नरेश पुत्र हनुमान मीणा को हत्या व साक्ष्य नष्ट करने के आरोप में गिफ्तार कर पुछताछ की जा रही है। जिसे न्यायालय में पेश कर रिमाण्ड प्राप्त किया जावेगा ।