अनलॉक 2 में भी नहीं शुरू हुआ मिनी बसों का संचालन, ऑटो रिक्शा वाले वसूल रहे मनमाना किराया…

0
42
mini bus

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। राजस्थान में आज 1 जुलाई से अनलॉक 2 की गाइडलाइन जारी कर दी गई है। इस बार प्रदेश सरकार ने प्रदेशवासियों को कुछ रियायतें दी हैं तो वही स्कूल, कॉलेज समेत सभी शैक्षणिक संस्थान, सिनेमाघर, स्विमिंग पूल आदि कई चीजों पर पाबंदी जारी है। राज्य सरकार ने राजधानी जयपुर में सार्वजनिक परिवहन को बंद रखने का भी फैसला लिया है। इसके पीछे का कारण है अनलॉक वन के बाद से प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले। राजधानी जयपुर में भी कोरोना संक्रमण के ग्राफ में लगातार इजाफा हो रहा है। ऐसे में मिनी बस या लो फ्लोर बसों के चलने से सामाजिक दूरी के नियम का पालन करना नामुमकिन है। बता दें कि जयपुर में रोजाना 2 हजार मिनी बसों में करीब 50 हजार लोग सफर करते हैं। मिनी बसें आकार में बेहद छोटी होती है और इनमें प्रवेश और निकासी का एक ही रास्ता होता है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बेहद मुश्किल है। 

बता दें कि अनलॉक वन के बाद से प्रदेश सरकार द्वारा परिवहन सेवा में छूट दी गई थी। इसमें शहर से बाहर जाने वाली बसें और रोडवेज बसों का संचालन शुरू कर दिया गया। इसके साथ ही ऑटो में एक, कैब और ई रिक्शा में 2 लोगों के बैठने की अनुमति के साथ इनके संचालन में भी छूट दे दी गई थी। प्रदेशवासियों को सार्वजनिक परिवहन जैसे की मिनी बसें और लो फ्लोर बसें न चलने की वजह से काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।  कामकाज, दफ्तर, बाजार आदि जाने के लिए लोगों को ऑटो और कैब में अधिक किराया देकर यात्रा करनी पड़ रही है। ऑटो और ई रिक्शा चालक यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार यात्रियों से 30 से 50 फ़ीसदी ज़्यादा किराया वसूला जा रहा है। सरकार के द्वारा जारी की गई गाइडलाइन में फिलहाल सिटी बसों के संचालन को बंद रखने के निर्देश जारी किए गए हैं। सरकार के आगामी आदेशों तक इनका संचालन होना असंभव है। पिछले 4 महीने से सिटी बसों के चालक और परिचालक बेरोजगार बैठे हुए हैं।