राजगढ़ अलवर कस्बे के वार्ड नं. 17 टकसाल की गली में स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के मुख्य द्वार के आसपास नगरपालिका के सफाई कर्मचारियों द्वारा रोजाना शहर का सारा कचरा लाकर ड़ाला जा रहा है। रोजाना शहर की सफाई के नाम पर विद्यालय के पास बने शौचालय के समीप कचरा इकट्ठा करके ढ़ेर लगाया जा रहा है। गंदगी के कारण अभिभावक बच्चों को विद्यालय भेजने से कतरा रहे है।प्रधानाध्यापिका विमललता भदौरिया ने बताया कि अनेक बार उपखंड अधिकारी, नगरपालिका चैयरमैन, वार्ड पार्षद को अनेक बार शिकायत करने के बाद भी इस समस्या का निस्तारण नहीं हो पाया है। कचरा यहां पड़े रहने से अनेक बार यहां से निकलने वाले अभिभावकों, राहगीरों व अध्यापकों को आवारा पशुओं ने गिरा कर चोटिल कर दिया है। हालात ये है कि सुबह से लेकर सायं तक विद्यालय में बदबू बनी रहती हैं जिसके कारण बैठना भी दुर्भर हो गया है। उपखंड अधिकारी द्वारा विद्यालय का निरीक्षण करने के बाद एक-दो दिन तो हालात ठीक रहे लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। जब नगरपालिका के कर्मचारियों को विद्यालय स्टाफ द्वारा कचरा ड़ालने से रोका जाता है तो अभद्र व्यवहार करते हैं। विद्यालय के पास बना शौचालय के पास से निकलने वाली छात्राओं को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। विद्यालय के स्टाफ ने जिला कलेक्टर व उपखंड अधिकारी को पत्र लिखकर जल्द से जल्द समस्या का निराकरण करने की मांग की है।

शहर में सबसे अधिक नामांकन वाला विद्यालय, भामाशाहों ने दिया लाखों का दान

राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय न.3 शहर का सबसे अधिक नामांकन वाला विद्यालय है। वर्तमान में लगभग 165 विधार्थी अध्ययनरत है। विद्यालय संस्थाप्रधान के सहयोग से भामाशाहों द्वारा लगभग 10 लाख रुपये से विद्यालय में रंग रोगन, फर्नीचर, कम्प्यूटर, प्रिन्टर, वाटर कूलर आदि उपलब्ध करवायेंगे है। परन्तु गंदगी के कारण अभिभावक अब यहां बच्चों को भेजने से कतराने लग गये है।

कचरे व बदबू से हो सकता है बच्चों में सक्रंमण

विद्यालय के पास कचरे पड़ा होने व बदबू आने के कारण यहां रहने वाले लोगों व विद्यालय के स्टाफ में सक्रंमण व बीमारियों के फैलने का डर बना हुआ है। कोरोना के कारण स्कूल में नियमित अध्ययन बंद है परन्तु यदि विद्यालय में नियमित अध्ययन प्रारंभ होता है तो बच्चों में संक्रमण व बीमारी फैलने से हो सकता है बड़ा हादसा

अनेक बार शिकायत करने के बाद भी नहीं हो रही कार्यवाही

जहां एक ओर केन्द्र व राज्य सरकारें स्वच्छता अभियान चला रही हैं दूसरी ओर राजगढ़ नगरपालिका के सफाई कर्मचारी स्वच्छता अभियान के नाम पर विद्यालय के पास कचरा इकट्ठा कर यहां का वातावरण दूषित कर रहे हैं। अनेक बार शिकायत करने के बाद भी आखिर क्यों उपखंड प्रशासन व नगरपालिका अन्यत्र कचरा नहीं डलवा रही हैं।

इनका कहना

“कचरे के सम्बंध में अनेक बार मेरे द्वारा नगरपालिका को पत्र लिखें जा चुके हैं। वाट्सअप ग्रुप मे भी कचरे की फोटो शेयर की गई थी परन्तु अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। -प्रीति शर्मा, वार्ड पार्षद-17”

“नगरपालिका के सफाई कर्मचारियों को कचरा सुबह जल्दी उठाने के लिए बोल दिया गया है, जल्द ही इस समस्या का निस्तारण कर दिया जायेगा।-सतीश दुहारिया, चैयरमैन नगरपालिका राजगढ़”

9ed8ca91 714e 477c ab88 e77ca20895e0