आपातकाल के 45 साल पूरे होने पर मोदी और शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना…

0
34
pm modi & shah mb

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। इंदिरा गांधी के समय में इमरजेंसी को 45 साल पूरे हो गए हैं। भारत में साल 1975 में 25 जून को आपातकाल घोषित किया गया था। जिसे 21 महीनों तक जारी रखा गया था। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की सरकार में लागू किया जाए आपातकाल के 45 वर्ष पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उन लोगों को नमन किया जिन्होंने लोकतंत्र की रक्षा के लिए संघर्ष किया था। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा- आज से ठीक 45 वर्ष पहले देश पर आपातकाल थोपा गया था। उस समय भारत के लोकतंत्र की रक्षा के लिए जिन लोगों ने संघर्ष किया, यातनाएं झेलीं, उन सबको मेरा शत-शत नमन! उनका त्याग और बलिदान देश कभी नहीं भूल पाएगा।


वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए गांधी परिवार पर जमकर निशाना साधा। शाह ने ट्वीट करते हुए लिखा- इस दिन, 45 साल पहले सत्ता के लिए एक परिवार के लालच ने आपातकाल लागू कर दिया।  रातों रात राष्ट्र को जेल में बदल दिया गया।  प्रेस, अदालतें, और बोलने की आजादी खत्म कर दिए गए।  गरीबों और दलितों पर अत्याचार किए गए।

गृह मंत्री शाह ने आगे लिखा- लाखों लोगों के प्रयासों के बाद आपातकाल हटाया गया था।  भारत में लोकतंत्र बहाल हो गया था। लेकिन यह कांग्रेस में अनुपस्थित रहा।  एक परिवार के हित पार्टी के हितों और राष्ट्रीय हितों पर हावी थे।  यह खेदजनक स्थिति आज की कांग्रेस में भी पनपती है!

शाह ने आगे ट्वीट करते हुए लिखा- सीडब्ल्यूसी की हालिया बैठक के दौरान, वरिष्ठ सदस्यों और छोटे सदस्यों ने कुछ मुद्दों को उठाया।  लेकिन, उनकी आवाज को दबा दिया गया।  पार्टी के एक प्रवक्ता को बिना सोचे समझे बर्खास्त कर दिया गया।  दुखद सच्चाई यह है कि कांग्रेस में नेता घुटन महसूस कर रहे हैं।

गृह मंत्री शाह ने कहा कि भारत के विपक्षी दल होने के नाते कांग्रेस को खुद से पूछने की आवश्यकता है कि आपातकाल की मानसिकता क्यों बनी हुई है?  एक राजवंश के नेताओं को छोड़कर बाकी के नेता बोलने में असमर्थ क्यों हैं?  कांग्रेस में नेता क्यों हताश हो रहे हैं?