मन की बात: संकट की स्थिति में मेरे मन को एक बात छू गई वो है, इनोवेशन साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि…

0
137

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज रेडियो के प्रमुख कार्यक्रम मन की बात के 65वें संस्करण में देशवासियों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस बार की बात में कहा कि पिछली बार मैनें जब आप लोगों से बात की थी, तो बसें, ट्रेन, हवाई सफर आदि बंद था। लेकिन अब जिदंगी वापिस पटरी पर आने लगी है। इस बार, बहुत कुछ खुल चुका है।

साथ ही पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि देश में सबके सामूहिक प्रयासों से कोरोना के खिलाफ लड़ाई बहुत मजबूती से लड़ी जा रही है। देश में कोविड19 का प्रकोप उतनी तेजी से नहीं पड़ सका। जितनी तेजी के साथ अन्य बड़े बड़े देशों में फैला। कोरोना से होने वाली मृत्यु दर भी हमारे देश में काफी कम है। जो नुकसान हुआ है, उसका दु:ख हम सबको है। लेकिन जो कुछ भी हम बचा पाएं हैं, वो निश्चित तौर पर देश की सामूहिक संकल्पशक्ति का ही परिणाम है।

साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना की वैक्सीन पर, हमारी लैब्स में, जो, काम हो रहा है उस पर तो दुनियाभर की नजरें ठीकी है और हम सबकी आशा भी। उन्होंने कहा कि एक ऐसी आपदा जिसका पूरी दुनिया के पास कोई इलाज ही नहीं है, जिसका, कोई पहले का अनुभव ही नहीं है, तो ऐसे में, नयी-नयी चुनौतियाँ और उसके कारण परेशानियाँ हम अनुभव भी कर रहें हैं। इसके अलावा उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि इस संकट की स्थिति में मेरे मन को एक बात छू गई। वो है, इनोवेशन गांवों से लेकर शहरों तक, छोटे व्यापारियों से स्टार्टअप तक, हमारी लैब्स कोरोना लड़ाई में, नए-नए तरीके इजाद कर रहे हैं, नए अविष्कार कर रहे हैं। इसी के साथ ही पीएम मोदी ने एक बार फिर लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस संकट की घंड़ी में दो गज की दूरी के नियमों में जरा भी ढील न बरतें।