लखनऊ/ अपने पुत्र की पत्नी अर्थात पुत्र वधू को हिंदू संस्कृति में पुत्री के समान माना जाता है और पुत्री का पिता की कभी शादी नहीं होती लेकिन रीति रिवाज और संस्कृति सब को दरकिनार करते हुए एक बहू ने अपने पति को छोड़कर अपने ही ससुर से कोर्ट में शादी कर ली और जिससे उसका 2 साल का बेटा भी है और पूर्व पति अब उसका बेटा बन गया है।

यह घटना है उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले की दबतोरी चौकी क्षेत्र। दबतोरी क्षेत्र के रहने वाले एक युवक ने बिसौली पुलिस थाने में शिकायत की कि उसकी शादी 2016 में वजीरगंज क्षेत्र की एक युवती से हुई थी साल भर दोनों साथ रहे ।

अगले साल पत्नी उसके पिता के साथ कहीं चली गई तब से वह दोनों को लगातार तलाश कर रहा है हाल ही में उसे पता चला है कि दोनों चंदौसी में रह रहे हैं।

इस शिकायत पर पुलिस युवक द्वारा बताए गए ठिकाने पर पहुंचकर उसके पिता और उसकी पत्नी जो आप उसके पिता की पत्नी बन गई है को पकड़ कर थाने ले आई और हवालात में डाल दिया।

युवक के पिता का हवालात में बंद कर उसकी पत्नी के बयान की तो उसने बयानों में कहा कि वह अपने पति से परेशान थी और शादी के समय में नाबालिग था तथा अपने ससुर के साथ वह अपनी मर्जी से गई

है और दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली है और अब ससुर से उसका 2 साल का बेटा भी है वह दोनों अपनी जिंदगी में खुश हैं गांव में बदनामी के डर से मैं चंदौसी जाकर रहने लगे हैं।

दूसरी ओर ग्रामीणों के अनुसार जिस लड़के की शादी का मामला है उसकी मां नहीं है वह मजदूरी करता है तथा उसकी एक बहन है जिसकी शादी हो चुकी है और छोटा भाई है ।

जो अपने चाचा के यहां रहता है परिवार ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं है घर में विवाद पहले भी रहा है । विवाह पर संबंध का मामला होने पर पुलिस ने ग्रामीणों को भी कोतवाली बुलाया था ।

जहां सबके सामने महिला ने अपने ससुर के साथ ही जाने और उसके साथी पति के रूप में रहने की इच्छा जाहिर की और कोर्ट मैरिज के कुछ प्रमाण पत्र भी उसके साथ थे।

उसके बयान और प्रमाण पत्र के आधार पर महिला को उसके ससुर जवाब उसका पति है के साथ रवाना कर दिया गया । इस बात को लेकर खासी चर्चा है कि पति पत्नी का रिश्ता अब मां बेटे का बन चुका है।