नई दिल्ली केन्द्र मे पीएम मोदी के मंत्रिमंडल का विस्तार अगले सप्ताह होने की संभावनाएं है। सूत्रो के मुताबिक मैं समय से केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें लगाई जा रही थी और अब संभवत या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन अटकलों पर विराम लगाने जा रहे हैं और संभवत है अगले सप्ताह से पूर्व मंत्रिमंडल का विस्तार होने की संभावना है और इसी को लेकर व्हाट्सएप पर सभी सांसदों को दिल्ली बुलाया है ।

सूत्रो के अनुसार अनुप्रिया पटेल, सिंधिया, सर्बानंद सोनोवाल, सुशील मोदी सहित कई बड़े चेहरों के शामिल होने की संभावनाएं हैं। जाट,गुर्जर नेताओं का कद भी बढ़ सकता है। मंत्रिमंडल में राजस्थान से प्रतिनिधित्व कर रहे मंत्रियों मैं से एक मंत्री शेखावत का कद बढ़ सकता है। विश्वस्त सूत्रो के अनुसार मंत्रिमंडल का विस्तार इस हफ्ते किया जा सकता है 20 से 22 मंत्री शपथ ले सकते हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 6 से 8 जुलाई के बीच मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है।केंद्रीय मंत्रिमंडल में वर्तमान में 53 मंत्री शामिल हैं और विस्तार के बाद 81 सदस्य हो सकते हैं।गठबंधन दल भी इस बार मोदी कैबिनेट का हिस्सा हो सकते हैं और जेडीयू, एलजेपी के अलावा अपना दल कोटे से नेता शपथ ले सकते हैं।

किस राज्य से कौन बन सकता है मंत्री

उत्तर प्रदेश — मोदी मंत्रिमंडल में उत्तर प्रदेश से तीन संचार मंत्री शामिल किए जाएंगे।अपना दल से अनुप्रिया पटेल को भी कैबिनेट में जगह मिल सकती है।

बिहार– मंत्रिमंडल में बिहार के दो से तीन नेताओं को शामिल किया जा सकता है,इसमें भाजपा के सुशील कुमार मोदी, जेडीयू के आरसीपी सिंह और एलजेपी से पशुपति पारस का नाम आगे है।

मध्य प्रदेश– कैबिनेट में मध्य प्रदेश से एक से दो मंत्री शामिल होंगे, इसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया और राकेश सिंह का नाम शामिल है।

महाराष्ट्र- मोदी कैबिनेट में महाराष्ट्र से एक से दो मंत्री शामिल हो सकते हैं. इसमें नारायण राणे का नाम शामिल है।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख– कैबिनेट में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख से एक-एक मंत्री को जगह मिल सकती है।

राजस्थान– मोदी कैबिनेट में राजस्थान से भी एक एक मंत्री को शामिल किया जा सकता है।

असम- कैबिनेट में असम से एक से दो मंत्री शामिल हो सकते हैं. इसमें असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल का नाम सबसे आगे है।

पश्चिम बंगाल- मोदी कैबिनेट में पश्चिम बंगाल के दो नेताओं को जगह दी जा सकती है इसमें भाजपा सांसद शान्तनु ठाकुर और निसिथ प्रामाणिक के नाम आगे आ रहे हैं। इसके अलावा ओडिशा से एक मंत्री को कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है।