नागौर के डीडवाना गांव में 3 मासूम भाई जेल में बहार बैठे हुए है 3 साल पहले माँ की हत्या हुई थी आरोप में पिता को जेल भेजा गया था डपंप के कुल 5 बेटे थे अब मासूम बेसहारा हो चुके है दाने दाने को मोताज बच्चे दर दर की ठोकरे खाने को मजबूर है इस बिच पहले एक मासूम भाई हादसे का शिकार हो गया उसकी मौत हो गई थोड़े समय पहले दूसरे भाई की भी मौत हो गई थी इसके बाद बचे 3 मासूम बेसहारा भाई पिता की तलाश में डीडवाना जेल के बाहर आ पहुंचे। इस बात की जानकारी जब जेलर हेमराज के जरिये SDM तक पहोची तो उन्होंने तत्काल जेल के बाहर बैठे मासूम भाइयों को अपने कार्यालय में बुलाया। जेलर हेमराज ने उनसे उनकी परेशानी सुनी जेलर ने निर्णय लेते हुए उन्हें नागौर चाइल्ड लाइन टीम के सदस्यों को बुलाकर सौंप दिया। अब इन मासूम बच्चों को चाइल्ड लाइन टीम ने CWC नागौर के समक्ष पेश किया है। जहां अब CWC नागौर इनका लालन-पालन सुनिश्चित करेगी।

whatsapp image 2021 08 07 at 092300 1628309298 1