Marudhar Desk: देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का खतरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जैसे -जैसे ओमिक्रोन के नए मामले सामने आ रहे है वैसे ही तीसरी लहर का संकट ज्यादा गहराता जा रहा है। जरा सी लापरवाही पूरे देश को खतरे में डाल सकती है। क्योंकि कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन डेल्टा समेत अन्य दूसरे वैरिएंट की तुलना में ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है। इसके तेजी से फैलने के पीछे का मुख्य कारण ये है कि ये बेहद ही अलग तरीके से म्यूटेट होता है। वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि इसके बहुत ज्यादा म्यूटेशन की वजह से री-इंफेक्शन भी हो सकता है। इसके साथ ही इस वैरिएंट की वजह से पूरे विश्व में कोरोना के मामलों में फिर से इजाफा हो सकता है। हालांकि, अभी उम्मीद यही जताई जा रही है कि ओमिक्रोन वैरिएंट डेल्टा की तुलना में ज्यादा घातक नही होगा। अगर लक्षणों की बात करें तो डेल्टा और दूसरे संक्रमण में सांस लेने में दिक्कत के साथ स्वाद और सुगंध का न आना शामिल था। वहीं, ओमिक्रोन अभी रिसर्च की स्टेज पर है और इस वैरिएंट के बारे में ज़्यादा जानकारी नहीं है, हालांकि, देश और विदेश में पाए गए मामलों में हल्के लक्षण ही देखे जा रहे हैं, जिसमें आम ज़ुकाम जैसे लक्षण ज़्यादा थे और इसमें पिछले संक्रमण जैसा कुछ भी नहीं। हालांकि, ओमिक्रोन वैरिएंट बेहद तेजी से फैलता है तो इसमें सतर्कता बरतने की जरुरत बेहद ज्यादा है। वहीं, देश में लोगों की लापरवाही की खबरे सामने आ रही है। मंगलवार दोपहर तक महाराष्ट्र में 10 मरीज सामने आ चुके हैं और 11 संदिग्ध मरीजों की ‘जीनोम सिक्वेंसिंग’ करवाई गई है। इस बीच एक डराने वाली जानकारी ठाणे जिले से सामने आ रही है। राज्य स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, हाई रिस्क वाले देशों से महाराष्ट्र पहुंचे 100 से ज्यादा यात्री गायब हो गए हैं। इन यात्रियों के बारे में कुछ भी पता नहीं चल पा रहा है और लगभग सभी के नंबर बंद आ रहे हैं। इसके खबर के बाद चिंता बढ़ गई है।