Marudhar Desk: राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने जारी प्रेस बयानों में कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर के लोहावट थाने की पुलिस द्वारा श्रीगंगानगर जिले से लाये गए दलित समाज के व्यक्ति राजू नायक की पुलिस हिरासत में हुई मौत अत्यंत गम्भीर व संवेदनशील मामला है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार पुलिस ने उक्त व्यक्ति को गिरफ्तार करने के बाद गम्भीर मारपीट की गई जिसकी वजह से उसकी मृत्यु हो गई। सांसद बेनीवाल ने कहा कि भील, नायक समाज के लोगो ने अवगत करवाया और न्याय की गुहार लगाई है। बेनीवाल ने कहा कि दुर्भाग्य इस बात का है कि सीएम के गृह जिले जोधपुर में दलित युवक का शव पांच दिन से अस्पताल की मोर्चरी में पड़ा है और दलितों के हितों के संरक्षण का दावा करने वाली कांग्रेस सरकार के किसी नेता ने पीड़ित दलितों से मुलाकात तक नही की। सांसद बेनीवाल ने कहा कि मामले में मजिस्ट्रेट जांच चल रही है ऐसे में यह साफ है कि पुलिस हिरासत में ही मौत हुई है। उसके बावजूद हिरासत में मौत के बाद जो विभागीय कार्यवाही जिम्मेदारों पर होनी चाहिए वो नही हुई। सांसद ने सरकार से मामले में तत्काल पीड़ित दलित परिवार की मांगों पर सहमति व्यक्त करने व दोषी पुलिस कार्मिको के विरुद्ध कार्यवाही करने की मांग की है। इसके साथ ही हत्या का मुकदमा दर्ज करने के साथ मृतक के परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान करने की भी मांग की है। बेनीवाल ने रेंज आइजी जोधपुर व एसपी ग्रामीण जोधपुर से दूरभाष पर वार्ता कर गहरी नाराजगी व्यक्त की। वहीं रालोपा प्रदेश अध्यक्ष पुखराज गर्ग, पार्टी के पदाधिकारियों व दलित नेताओं को मौके पर जाकर दलित परिवार के साथ न्याय की लड़ाई में साथ देने के निर्देश दिए है।