प्रदेश की गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, अगर नहीं हुआ लॉकडाउन का पालन तो…

0
62
cm ashok gehlot

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। दुनिया में फैली वैश्विक महामारी का प्रभाव अब देश के साथ साथ राजस्थान में नजर आ रही है। जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस के कारण अब तक प्रदेश में 32 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके है। वहीं बात करें देश में मरने वालों की अभी तक 9 लोगों ने इस वायरस के चलते दम तोड़ दिया। बहरहाल बता दें कि प्रदेश की गहलोत सरकार ने इस भयंकर विपदा से सामना करने के लिए अब सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को हुई बैठक में लोगों से आग्रह किया कि वो लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें। जो भी व्यक्ति लॉकडाउन का पालन नहीं करेगा उसके खिलाफ सख्त कदम उठाए जा सकते है। वहीं यदि मंगलवार से लॉकडाउन का सही रूप से पालन नहीं किया गया तो प्रदेश में बुधवार को कर्फ्यू लगना सकता है।

इसके अलावा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में सोमवार को लॉकडाउन के हालातों पर जायजा लेने के बाद बड़ा फैसला लिया। एहतियात के तौर पर मंगलवार से प्रदेश में सभी निजी वाहनों पर बैन लगा दिया गया है। लेकिन इस दौरान केवल अत्यावश्यक सेवाओं से जुड़े वाहन ही चल सकेंगे। वहीं सोमवार रात 12:00 बजे से स्टेट हाईवे टोल भी बंद कर दिए गए है। ऐसे में ना कार चलेगी और ना ही बाइक। इससे पहले प्रदेश की सरकार ने 31 मार्च तक राज्य में लॉकडाउन का आदेश जारी किया था। जिसके तहत स्कूल, कॉलेज, सिनेमा, जिम सहित भीड़ भाड़ वाले स्थानों को पूर्ण रूप से बंद करने के आदेश जारी किए थे। बता दें कि प्रदेश के भीलवाड़ा में अब तक कोरोना से सबसे ज्यादा संक्रमित लोग सामने आए है।