मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। देश में अब मकर संक्राति की तैयारी शुरू हो चुकी है। जगह जगह पंतग मांझे की दुकाने सजने लग गई है और इस समय देश में कोरोना का कहर जारी है तो ऐसे में स्कूलों भी बंद है और बच्चे मकर संक्राति से पहले ही पंतग उड़ाने का आनंद ले रहे है। बता दें कि 14 जनवरी को मकर संक्राति का पर्व मनाया जाने वाला है। इसी बीच अब गहलोत सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है।

pp 1

सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार ने मकर सक्रांति त्योहार के मौके पर चाइनीज मांझे पर रोक लगा दी है। इस संबंध में गृह विभाग ने भी अपनी ओर से आदेश जारी कर दिए हैं। साथ ही विभाग ने सभी जिला मजिस्ट्रेट, जयपुर और जोधपुर के पुलिस आयुक्त को पतंगबाजी के लिए बेचे जाने वाले चाइनीज मांझे पर रोक लगाने का आदेश जारी कर दिया है। गौरतलब है कि हर साल चाइनीज मांझे से कई बड़ी दुर्घटनाएं होती है।

p

साथ ही ये खतरनाक मांझा पक्षियों के लिए बहुत खतरनाक है। पक्षी इस मांझे में उलझकर या तो दम तोड़ देते है या फिर तड़पते रहते है। बता दें कि चाइनीज मांझा विभिन्न धातुओं के मिश्रण से बनाया जाता है, जो बेहद धारदार और विद्युत का सुचालक होता है। बिजली के तारों पर अगर ये चाइनीझ मांझा गिर जाता है तो उससे करंट आने का डर भी रहता है।