घेवर के बिना फीका ही नजर आया इस बार का सिंजारा, कल नहीं निकलेगी गणगौर माता की सवारी!

0
61
gangour

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। राजस्थान का सबसे प्रमुख त्योहार गणगौर का रंग इस बार कोरोना वायरस के कारण फीका ही नजर आ रहा है। शुक्रवार, 27 मार्च को देश में महिलाओं के लिए अखंड सौभाग्य की प्राप्ति का पर्व गणगौर का त्योहार मनाया जाएगा। इस पर्व विवाहित स्त्रियां अपने पति की मंगल कामना और अखंड सौभाग्य की प्राप्ति करती है। वहीं अविवाहित लड़कियां भी अच्छे वर के लिए इस दिन गणगौर की पूजा करती हैं।

बहरहाल बता दें कि गणगौर से एक दिन पहले सिंजारा मनाया जाता है। इस दिन नई नवेली दुल्हन, शादी होने वाली कुंआरी कन्याओं का सिंजारा आता है। लेकिन इस बार का सिंजारा फीका ही नजर आ रहा है। क्योंकि इस बार कोरोना वायरस के कारण देश के साथ राज्यों में लॉकडाउन किया जा रहा है। जिसके चलते बाजारों में घेवर नजर ही नहीं आ रहे। क्योंकि लॉकडाउन के चलते मिठाईयों की दुकानें बंद है। साथ ही महिलाएं कोरोना के चलते इस बार श्रृंगार की चीजें नहीं खरीद पाई और बाहर जाकर मेंहदी भी मंडा सकी। इसके चलते अब महिलाएं घर पर मेंहदी लगा रही है।

बता दें कि गणगौर का मुख्य मेला राजस्थान की राजधानी जयपुर में भरता है। इस दिन गणगौर माता की सवारी निकलती है और कई प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते है। लेकिन इस बार प्रदेश में गणगौर का मेला कोरोना वायरस के चलते रद्द कर दिया गया है। वहीं इस बार महिलाएं कोरोना के प्रभाव को रोकने के लिए गणगौर की पूजा में विशेष ध्यान रख रही है और मुंह पर मास्क और सेंनिटाइजर का प्रयोग कर गणगौर की पूजन कर रही है।