वर्चुअल रैली के दौरान रक्षा मंत्री ने कहा कि नेपाल और भारत के बीच “रोटी-बेटी” का रिश्ता, इसे कोई नहीं तोड़ सकता…

0
64

मरुधर बुलेटिन न्यूज़ डेस्क। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को उत्तराखंड में वर्चुअल जनसंवाद रैली को संबोधित किया। इस दौरान रक्षा मंत्री ने कहा कि लिपुलेख में सड़क बनने के कारण नेपाल को जो गलतफहमी हुई है उसे बातचीत के जरिए सुलझा लिया जाएगा। भारत और नेपाल के बीच का जो रिश्ता है ये कोई सामान्य रिश्ता नहीं है। भारत और नेपाल का रिश्ता रोटी और बेटी का है। दुनिया की कोई ताकत इस रिश्ते को तोड़ नहीं सकती है। लिपुलेख रोड बनने के कारण अगर कोई गलतफहमी नेपाल के लोगों में पैदा हुई है तो उसका समाधान हम लोग मिल बैठकर निकालेंगे। मैं पूरे विश्वास के साथ कहना चाहता हूं भारत में रहने वाले लोगों के मन में कभी भी नेपाल को लेकर किसी प्रकार की कटुता पैदा हो ही नहीं सकती है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि अपने हर घोषणा पत्र में हमने कहा कि हमारी सरकार बनेगी तो हम धारा 370 समाप्त करेंगे। लोग कहते थे कि भाजपा वाले केवल वोट हासिल करने के लिए इसे घोषणा पत्र में शामिल करते हैं। हमको पूर्ण बहुमत हासिल हुआ और धारा 370 समाप्त हो गई। बता दें कि लिपुलेख से धारचूला तक भारत में सड़क बनाई है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 8 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस सड़क का उद्घाटन किया था। इसके तुरंत बाद ही नेपाल सरकार ने इस बात का विरोध किया था और 18 मई को नया नक्शा तैयार कर दिया। नेपाल सरकार के द्वारा उठाए गए इस कदम पर भारत ने आपत्ति जताई थी। हाल ही में भारत की सेना प्रमुख एमएम नरवाने चीन का नाम लिए बिना कहा था कि नेपाल ने यह कदम किसी और के कहने पर उठाया है। भारत का कहना है कि नया नक्शा ऐतिहासिक तथ्यों पर आधारित नहीं है।