Jaipur: राजस्थान में कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के बीच सरकार ने वैक्सीनेशन प्रोग्राम को रफ्तार देने की तैयारियां शुरु कर दी है। राजस्थान में धीमे पड़े वैक्सीनेशन प्रोग्राम को स्पीड देने के लिए सरकार ने ऑन कॉल वैक्सीनेशन स्कीम शुरू की है। इसके लिए व्यक्ति को 181 नंबर पर कॉल करना होगा। जिसके बाद मेडिकल टीम घर आकर वैक्सीनेशन करेगी। हालांकि टीम घर तभी आएगी, जब कम से कम 10 लोगों को टीका लगाना होगा। बता दें कि प्रदेश में अभी तक कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के 9 मामले सामने आ चुके है। जिससे चिंता बढ़ने लगी है। अब सरकार त्यौहारों के सीज़न में धीमे पडे वैक्सीनेशन प्रोग्राम को तेज करने के लिए ये प्रोग्राम चला रही है। बता दें कि जयपुर में एक बार कोरोना विस्फोट की खबर सामने आ रही है। पिछले 24 घंटे में जयपुर में 25 कोरोना के मामले सामने आए है। वहीं, 5 महीने में पहली बार एक दिन में जयपुर में इतने मरीज मिले हैं। इससे पहले जुलाई माह में एक दिन में 27 मरीज सामने आए थे। अब कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के फैलने का खतरा भी बढ़ गया है। क्यों कि आज जो केस सामने आए है उनमें से 11 मरीज ऐसे है जो ओमिक्रॉन पॉजिटिव और संदिग्धों के संपर्क में आए है। रिपोर्ट मिलने के बाद सीएमएचओ की टीम ने सभी को संदिग्ध मानते हुए उनके सैंपल जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए भिजवाए है। बता दें कि पिछले एक हफ्ते में जयपुर में कोरोना के मामलों में इजाफा हुआ है। वहीं, 9 ओमिक्रोन वैरिएंट के मामलो की पुष्टि हो चुकी है जबकि दो की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। बता दें कि जयपुर में बढ़ते संक्रमित मरीजों को देखते हुए सरकार ने अब महात्मा गांधी हॉस्पिटल को भी कोरोना संक्रमितों को आईसोलेट करने और इलाज के लिए अधिकृत किया है।