जीवन जिनके लिए सबका समान है, तभी तो ये धरती के भगवान है… कोरोना संकट में ही नहीं बल्कि हमेशा ही धरती पर भगवान का रूप रहे है डॉक्टर!

0
146

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। संसार में डॉक्टर ही एक ऐसा इंसान है, जिसे मरीज आस भरी नजरों से देखता है और आस लगा कर बैठता है कि डॉक्टर है तो कोई चिंता की बात नहीं। बता दें कि डाक्टर्स को धरती पर भगवान का दर्जा दिया गया है और वो सही भी है ​क्योंकि इस समय देश में जो महामारी फैली हुई है ​उसमें सबसे अहम भूमिका डाक्टर्स और उनकी चिकित्सक टीम निभा रही है। अपने घर परिवार, नींद, भूख को भूलकर वो 24 घंटे दूसरे लोगों की जान बचाने में जुटे है, ताकि उन्हें नई जिंदगी मिल सके।

आज उनकी वजह से ही देश के कई हिस्सों में रिकवरी रेट शानदार आगे बढ़ती जा रही है। इस कारण ही कोरोना महामारी के बीच इस बार का डॉक्टर्स डे काफी मायनों ने ख़ास है क्योंकि देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी डॉक्टर्स कोरोना महामारी के खिलाफ फ्रंटलाइन कोरोना यौद्धा साबित हुए हैं। बहरहाल बता दें कि देश में आज अन्तरराष्ट्रीय डाक्टर्स डे मनाया जा रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी स्वास्थ्यकर्मियों को बधाई दी है।

इस संकटकालीन स्थिति में धरती पर भगवान की भूमिका निभा रहे डॉक्टर्स को आज भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के लोग सलाम कर रहे है। इस मुश्किल समय में खुद की परवाह किए बिना वे एक योद्धा बनकर लोगों को बचाने में लगे हुए हैं। जहां हम अपनी रक्षा के लिए घरों में रह रहे है, सोशल डिस्टेंसिग का पालन कर रहे है ताकि हम कैसे ने कैसे इससे बच सके। लेकिन ऐसे में डॉक्टर उन पॉजिटिव मरीज के पास जाकर अपने हाथों से दवाई दे रहे, उनकी देखभाल कर रहे है। इतना ही नहीं वो उन लोगों को नया जीवनदान भी दे रहे है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस की अभी कोई वैक्सीन नहीं आई है, ऐसे में अगर कोई मरीज ठीक हो रहा है तो उसमें डॉक्टरों की देखभाल, सही वक्त पर इलाज का ही नतीजा है। यही कारण है कि इस संकट की घड़ी में दुनियाभर में डॉक्टर्स की तारीफ हो रही है।