Marudhar Desk: पूरे देश में कोरोना महामारी का कहर एक बार फिर बढ़ने लगा है। राजस्थान में भी बढ़ते मामले चिंता का विषय बनते जा रहे है। प्रदेश में कोरोना वायरस के साथ साथ अब नए वैरिएंट ओमिक्रोन के मामलों में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है। ऐसे में प्रदेश की गहलोत सरकार ने बढ़ते कोरोना संक्रमण और तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए एक बार फिर सख्ती करना शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद की पहली बार हुई लाइव ओपन बैठक में कोरोना की नई गाइडलाइन को मंजूरी दी गई। जिसे गृह विभाग के द्वारा तत्काल जारी और लागू भी कर दिया है। हालांकि इसके तहत न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर छूट रहेगी। बाकी पाबंदियां बढ़ा दी गई हैं। अब हर तरह के कार्यक्रमों, रैलियों, प्रदर्शनी, धार्मिक व अन्य समारोह में 200 से ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर रोक रहेगी। सिनेमा, ऑडिटोरियम और प्रदर्शनी स्थलों पर क्षमता से 50 फीसदी ज्यादा लोग नहीं जा सकेंगे। वो भी तक जब वैक्सीन की दोनों डोज लगी होगी। रेस्टोरेंट-होटल में रात 10 बजे के बाद बैठकर नहीं खा सकेंगे। इसके बाद सिर्फ होम डिलीवरी की सुविधा रहेगी। नाइट कर्फ्यू का सख्ती से पालन होगा। वहीं, स्कूल-कॉलेजों व कोचिंग इंस्टीट्यूट में ऑफलाइन क्लासेज बंद करने या स्टूडेंट्स की संख्या सीमित करने को लेकर कैबिनेट में फिलहाल कोई चर्चा नहीं हुई। किसी भी मेले, शादी समारोह या सार्वजनिक समारोह में 200 लोगों तक की लिमिट तय कर दी गई है। इसके लिए भी कलेक्टर से अनुमति लेनी होगी, कलेक्टर हालत देखकर ही अनुमति देंगे। बिना अनुमति ज्यादा भीड़ जुटाई तो 10 हजार जुर्माना देना होगा। वहीं बता दें कि नई गाडडलाइन के अनुसार , मास्क नही लगाने पर हजार रुपए का जुर्माना भरना होगा। इसके साथ ही सार्वजनिक स्थल या सड़क पर थूकने पर 200 रुपए जुर्माना लगेगा। सार्वजनिक स्थान पर शराब व तंबाकू सेवन करने पर 500 रुपए जुर्माना, पब्लिक प्लेस पर सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का उल्लंघन करने पर 100 रुपए जुर्माना, दफ्तरों में डिस्टेंसिंग मेंटेन वे सैनिटाइजेशन ना होने पर 10,000 रुपए का जुर्माना लगेगा। इसके साथ ही कैब, ऑटो रिक्शा व अन्य पब्लिक ट्रांसपोर्ट में बिना मास्क सफर करने पर 500 रुपए का जुर्माना देना होगा।