कांग्रेस विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा ने खरीद-फरोख्त के आरोपों का किया खंडन, कहा – नहीं सौंपा सीएम को कोई सबूत…

0
38

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। राज्यसभा चुनाव में खरीद-फरोख्त को लेकर राजस्थान में सियासत गरमाई हुई है। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है। कांग्रेस ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि पार्टी ने विधायकों को वोट देने के बदले पैसों का ऑफर दिया है। जबकि भाजपा इन आरोपों को साबित करने के लिए कांग्रेस को चुनौती देती हुई नजर आ रही है। इसी बीच कांग्रेस विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा ने इन बातों का खंडन किया गया है जिनमें कहा गया है कि उन्होंने विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर ऑडियो टेप मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौंपा है। इस पूरे मामले पर गिर्राज सिंह मलिंगा का कहना है कि न हीं तो मैंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को इस विषय में कोई ऑडियो टेप भेजा है और ना ही उनसे इस बारे में किसी तरह की कोई शिकायत की है।

गिर्राज सिंह ने आगे बताया कि उनसे एक मीडिया हाउस ने फोन करके इस बारे में पूछा था लेकिन उन्होंने यही जवाब दिया कि अगर मेरे पास इस तरह की कोई भी खबर होगी तो मैं सबसे पहले सीएम साहब को दूंगा। पता नहीं कि विरा विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर राजस्थान कांग्रेस का कहना है कि सरकार जल्द ही इस पूरे मामले का सबके सामने खुलासा कर देगी। इस मामले में सरकार ने जांच एसीबी, एटीएस और एसओजी को सौंप रखी है। कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी ने तीनों जांच एजेंसियों को पत्र लिखकर जांच पूरी करने की मांग की थी। वहीं इस पूरे मामले पर भाजपा बार-बार राजस्थान सरकार से उन लोगों के नाम पूछ रही है जिन्होंने विधायकों की खरीद-फरोख्त के लिए प्रलोभन दिया है। बता दें कि प्रदेश में विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर दिल्ली के नेताओं की तरफ से फोन आने की शिकायतों के बाद कांग्रेस ने अपने विधायकों की बाड़ाबंदी कर ली थी।