जयपुर। समाजसेवी रवि शंकर धाभाई ने आज राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मेल एवम ट्विटर के माध्यम से भेजे एक मांग पत्र भेजकर उसमें अनुरोध किया है कि राज सरकार आवासीय व्यवसायिक पट्टा जनसुनवाई शिविर इस वर्ष अक्टूबर माह में आयोजन किया जा रहा है रवि शंकर धाभाई ने बताया कि यह एक अच्छा एवं बहुत जन हित सराहनीय कदम है लेकिन अपने पत्र में रवि शंकर धाभाई ने मुख्यमंत्री से मांग कि है की महामारी आपदा की तीसरी लहर की संभावना को मद्देनजर इस प्रकार के आयोजन का इस वर्ष आयोजित नहीं किए जाएं क्योंकि इस प्रकार के शिविरों के आयोजन से महामारी का संक्रमण के प्रकोप बढ़ जाने के कारण जनहानि होने का खतरा हो सकता है । इन शिविरों में किसी भी प्रकार की कमी राज सरकार एवं केंद्र सरकार द्वारा जारी सुरक्षा संबंधी गाइड लाइन नियम कायदों की अवहेलना होने की संभावना हो सकती है, इस कारणवश महामारी बढ़ने की आशंका को देखते हुए इन शिविरों को आगामी वर्ष 2022 में स्थाई रूप से स्थिति काबू में हो जाने पर सुरक्षा उपाय पुलिस के पुख्ता इंतजाम कर व्यवस्थित ढंग के साथ एक ठोस कार्यगत योजना बनाकर आयोजित किए जाएं अन्यथा नहीं ।

क्योंकि राज सरकार दिसंबर तक तो लोगों के लिए वैक्सीन शिविर भी आयोजित होंगे और बिना वैक्सीन लगाए लोग इस प्रकार के शिविरों में भाग लेंगे और तीसरी लहर के प्रकोप के कारण महामारी के विकराल रूप में फैलने की संभावना को देखते हुए जान का खतरा हो सकता है । इस प्रकार के शिविरों में काफी संख्या में लोग समूह भीड़ बनाकर इकट्ठे होते हैं इस प्रकार के शिविरों का आयोजन इस वर्ष करना जरूरी एवं आवश्यक नहीं है क्योंकि इस माहमारी आपदा से अभी जंग जारी है जीवन है तो जहां है

रवि शंकर धाभाई ने अपने पत्र में मुख्यमंत्री से सुझाव भेज मांग की है कि इस महामारी आपदा की प्रकोप को देखते हुए इस संबंध में तुरंत प्रभाव से संबंधित विभाग के उच्च अधिकारियों को दिशा निर्देश देकर अनुग्रहित करें ।

rtgrtgrrrrrrrrrr
hy