दुनियाभर में कोरोना फैलाने का जिम्मेदार ज्यादातर लोग चीन को मानते हैं. कहा जाता है कि वुहान के मीट मार्केट (Wuhan Flesh Market) में बिकने वाले चमगादड़ के मांस से या फिर लैब में वायरस को बनाकर फैलाया गया है. लेकिन इसका जिम्मेदार चीन ही है. हालांकि चीन ने कभी भी इसकी जिम्मेदारी नहीं ली. लेकिन कहते हैं ना कि ऊपर वाला सब देखता है. चीन की हरकतों से परेशान होकर भले ही दुनिया के बाकी देश कुछ ना कर पाए हों, लेकिन इस देश को उसके कुकर्मों की सजा भगवान दे रहे हैं

बताया जा रहा है कि चीन में बीते एक हजार सालों में इस बार मूसलाधार बारिश हो रही है (Heavy Rain In China). इतने सालों में चीन में कभी ऐसी बारिश देखने को नहीं मिली थी. इस बारिश की वजह से निचले हिस्से पानी में डूब गए हैं. देश में बाढ़ की स्थिति बन चुकी है. ब्लूमबर्ग न्यूज एजेंसी के हवाले जानकारी मिली है कि अभी तक वहां इस बारिश ने 16 लोगों की जान ले ली है. निचले इलाकों में बाढ़ का पानी भर गया है. कई जगहों पर गर्दन तक पानी भर गया है.
ट्रेनों के अंदर भरा है पानी
चीन में अभी जैसे हालात हैं वैसा एक हजार साल में नहीं देखा गया. चीन से सामने आई कुछ फोटोज़ में देख सकते हैं कि वहां के पैसेंजर ट्रेनों में अंदर गले तक पानी भरा हुआ है. ये तस्वीर एक अंडरग्राउंड स्टेशन की है, जहां यात्री पानी में खड़े होकर ट्रेवल करने के लिए मजबूर हैं. कई लोग इस बारिश में फंसे हैं. इन लोगों को निकालने के लिए सेना को लगाया गया है. सड़कों पर गाड़ियां पानी में डूबी है. इसकी तस्वीरें वायरल हो रही है.