मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि राजधानी में कोविड-19 के मामले अधिक हैं लेकिन स्थिति नियंत्रण में है…

0
20
ARVIND KEJRIWAL

मरूधर बुलेटिन न्यूज डेस्क। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रेस को संबोधित किया। इस दौरान सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोविड-19 मामले अधिक हैं, लेकिन स्थिति नियंत्रण में है और चिंता करने की कोई बात नहीं है। हमने परीक्षण तीन गुना बढ़ा दिया है, लेकिन पॉजिटिव मामलों में लगभग 3000 प्रति दिन की वृद्धि हुई है। कुल कोविड-19 मरीज़ो में से लगभग 45,000 लोग ठीक हो चुके हैं। पिछले एक सप्ताह में मरीजों से भरे हुए कुल बेड की संख्या 6 हजार है हलांकि रोज़ 3000 नए मरीज़ आ रहे हैं लेकिन इन नए मरीज़ों को अस्पताल की बेड की ज्यादा जरूरत नहीं पड़ रही है। दिल्ली में जितने लोगों को कोरोना हो रहा है वो माइल्ड कोरोना हो रहा है।अभी दिल्ली के अस्पतालों में हमारे पास 13,500 बेड तैयार हैं इसमें से 7500 बेड खाली है और केवल 6000 बेड पर मरीज़ हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्लाजमा थेरेपी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हमें लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल और राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी करने की अनुमति मिली है। लोकनायक जयप्रकाश  अस्पताल में प्लाज्मा थेरेपी की शुरुआत के बाद से पहले की तुलना में मौतों की संख्या आधे से भी कम हो गई है।

केजरीवाल ने कहा कि कोरोना में सबसे ज्यादा परेशानी तब होती है जब मरीज़ का ऑक्सीजन लेवल अचानक कम हो जाता है। ऑक्सीजन का लेवल 95 होना चाहिए। अगर यह 90 से कम हो जाए,तो इसे खतरा मानें,यदि यह 85 से नीचे हो जाए तो इसे बहुत गंभीर माना जाता है।अगर यह 90 या 85 हो जाए तो आपको सांस लेने में कठिनाई होती है। कुछ मरीज़ ऐसे होते हैं जिनका ऑक्सीजन लेवल बहुत कम हो जाता है लेकिन उनमें कोई लक्षण नहीं दिखाई देता है, यह अचानक से कम हो जाता और उनकी अचानक मृत्यु हो जाती है। इसलिए हमने होम आइसोलेशन में रह रहें सभी मरीजों तक ऑक्सोमीटर पहुंचा दिया है